NDTV Khabar

नंदा देवी पर पर्वतारोहण करने गए आठ लापता पर्वतारोहियों में से पांच का मिला शव, अन्य तीन की तलाश तेज

भारतीय वायुसेना के साथ-साथ आईटीबीपी के जवान भी लापता लोगों की तलाश के लिए बीते कई दिनों से तलाशी अभियान चला रहे हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
नंदा देवी पर पर्वतारोहण करने गए आठ लापता पर्वतारोहियों में से पांच का मिला शव, अन्य तीन की तलाश तेज

सेना के जवानों को नंदा देवी की चोटी के पास से मिले पांच शव

नई दिल्ली:

भारतीय वायुसेना के हेलीकॉप्टरों ने सोमवार को लापता हुए आठ पर्वतारोहियों में से पांच के शव को ढूंढ़ लिया है. सभी पांच शव नंदा देवी की पूर्वी चोटी से मिले हैं. जबकि अभी अन्य तीन पर्वतारोहियों की तलाश जारी है. बतां दें कि भारतीय वायुसेना के साथ-साथ आईटीबीपी के जवान भी लापता लोगों की तलाश के लिए बीते कई दिनों से तलाशी अभियान चला रहे हैं. ध्यान हो कि कुछ दिन पहले ब्रिटेन, अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया के पर्वतारोही नंदा देवी की पूर्वी चोटी पर चढ़ने के दौरान लापता हो गए थे. विदेशी पर्वतारोही के लापता होने की सूचना मिलने के बाद से प्रशासन उनकी तलाश के लिए अभियान चला रहा था.

हिमाचल प्रदेश के किन्नौर में हिमस्खलन में सेना के 1 जवान की मौत, 5 के फंसे होने की आशंका


पिथौरागढ़ के जिलाधिकारी वी के जोगदांडे ने बताया कि वायुसेना के हेलीकॉप्टरों ने सोमवार को तलाश अभियान के दौरान पांच पर्वतारोहियों के शव नंदा देवी पूर्वी चोटी के पास देखे हैं. ऐसा लग रहा है कि नंदा देवी पूर्वी चोटी के नजदीक चढ़ाई के दौरान संभवत: हिमस्खलन के कारण पर्वतारोहियों की मौत हो गई होगी. ब्रिटेन के चार पर्वतारोहियों को रविवार को बचाने के बाद उनसे मिली सूचना के आधार पर हवाई तलाश के दौरान ये शव देखे गए.

मेघालय में फंसे श्रामिकों को निकालने का ऑपरेशन जारी, NDRF को मिले 3 हेलमेट,मजदूरों के कोई सुराग नहीं

जिलाधिकारी ने बताया कि हम केंद्र को रिपोर्ट भेज रहे हैं. निर्देश मिलने के बाद हम आगे का बचाव अभियान शुरू करेंगे. ब्रिटेन के मशहूर पर्वतारोही मार्टिन मोरान के नेतृत्व में यह टीम उत्तराखंड के पिथौरागढ़ जिले में 7434 मीटर ऊंचे नंदा देवी पूर्वी चोटी पर लापता हो गई. नई दिल्ली में भारतीय पर्वतारोही फाउंडेशन का एक संपर्क अधिकारी भी उस टीम का हिस्सा था. वे 13 मई को चोटी पर चढ़ाई के लिए मुंश्यारी से रवाना हुए थे लेकिन 25 मई को नियत तारीख पर वह बेस कैंप में नहीं लौटे. गौरतलब है कि इन पर्वतारोहियों के लापता होने की सूचना मिलने के बाद 14वीं बटालियन भारत तिब्बत सीमा पुलिस यानि कि आईटीबीपी ने नंदा देवी ईस्ट पर्वतारोहण अभियान के दौरान गुम हुए आठ पर्वतारोहियों की तलाश जोर शोर से प्रारंभ कर दी थी.

कैलिफोर्निया के जंगलों में लगी भीषण आग, 100 से ज्यादा लोग लापता, बचाव अभियान जारी 

जानकारी के अनुसार 12 सदस्यीय पर्वतारोहियों का दल 10 मई, 2019 से 15 जून, 2019 तक पर्वतारोहण अभियान पर था, इसी दौरान इनमे से आठ पर्वतारोही लापता हो गये. अन्य चार सही सलामत बेस कैंप में लौट आए और उन्होंने अन्य के लापता होने की सूचना आईटीबीपी को दी. बता दें कि यह दल कुमाऊं उत्तराखंड में स्थित नंदा देवी ईस्ट पर्वत के आरोहण के लिए निकला था. इसकी ऊंचाई 7434 मीटर है. इस अभियान को इंडियन माउंटेनियरिंग फाउंडेशन आईएमएफ से भी अनुमोदन प्राप्त था.

कपाट खुलने के एक सप्ताह बाद फिर से आईटीबीपी ने बद्रीनाथ मंदिर परिसर की सफाई की

गुम हुए 8 सदस्यों में 4 यूनाइटेड किंगडम से, दो संयुक्त राज्य अमेरिका और एक ऑस्ट्रेलिया से हैं, जबकि इनके लाइजन अफसर भारतीय हैं. गुम हुए पर्वतारोही में एक महिला भी शामिल है. इस अभियान में कुल 12 पर्वतारोही शामिल थे जिनमें चार किसी प्रकार बेस कैंप तक पहुंचने में सफल रहे हैं. पिथौरागढ़ जिला प्रशासन ने आईटीबीपी की मदद से 31 मई की शाम को सर्च व रेस्क्यू प्रारंभ कर दिया है.

टिप्पणियां

आईटीबीपी ने बद्रीनाथ मंदिर परिसर में चलाया स्वच्छता अभियान

इस कार्य में स्थानीय राजस्व पुलिस और एसडीआरएफ के सदस्य भी शामिल हैं. बताया जा रहा था कि इस अभियान का रूट मुनस्यारी, लीलम, मार्तोली, लावण होकर नंदा देवी ईस्ट बेस कैंप व समिट था. इस रास्ते में बहुत सारे दुर्गम पहाड़ी क्षेत्र हैं जहां इस साल बहुत ज्यादा बर्फबारी रिकॉर्ड की गई थी और अभी भी काफी बर्फ मौजूद है.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement