NDTV Khabar

केरल में आरएसएस कार्यकर्ता की हत्या में पांच लोग गिरफ्तार

घटना के एक दिन बाद केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने केरल में राजनीतिक कार्यकर्ताओं पर होने वाले हमलों पर चिंता जताई थी और कहा था कि लोकतंत्र में राजनीतिक हिंसा अस्वीकार्य है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
केरल में आरएसएस कार्यकर्ता की हत्या में पांच लोग गिरफ्तार

खास बातें

  1. राज्यव्यापी हड़ताल का आह्वान किया था
  2. गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने मुख्यमंत्री से की बात
  3. पुलिस व्हाट्सऐप और फेसबुक ग्रुप्स पर नजर रख रही
तिरुवनंतपुरम:

शहर में बीती देर रात हुई राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ कार्यकर्ता की हत्या के मामले में 5 लोगों को हिरासत में लिया गया है. वहीं भाजपा ने घटना के विरोध में आज राज्यव्यापी हड़ताल का आह्वान किया है. घटना के एक दिन बाद केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने केरल में राजनीतिक कार्यकर्ताओं पर होने वाले हमलों पर चिंता जताई और कहा कि लोकतंत्र में राजनीतिक हिंसा अस्वीकार्य है. मुख्यमंत्री पिनराई विजयन के कार्यालय का कहना है कि सिंह ने आज सुबह उनसे बात की है.

यह भी पढ़ें : RSS कार्यकर्ता की हत्या के विरोध में सड़कों पर BJP, बंद का ऐलान

मुख्यमंत्री कार्यालय ने फेसबुक पर एक पोस्ट में लिखा है, मुख्यमंत्री ने उन्हें सूचित किया कि राज्य सरकार आरोपी के खिलाफ कार्रवाई करेगी, फिर चाहे वह कोई भी हों. राजनाथ सिंह ने इस रुख पर संतोष जताया है. एक हिस्ट्रीशीटर अपराधी के नेतृत्व वाले एक गिरोह ने बीती देर रात आरएसएस के 34 वर्षीय कार्यवाह राजेश पर हमला कर उनकी हत्या कर दी. उनका बायां हाथ काट दिया गया और उनके शरीर पर कई घाव थे. पुलिस का कहना है कि हिरासत में लिए गए लोगों में मामले का मुख्य आरोपी हिस्ट्रीशीटर बदमाश भी शामिल है. सभी को रविवार सुबह ग्रामीण कत्ताक्कड़ा से हिरासत में लिया गया. शहर पुलिस के आयुक्त जीएस कुमार ने कहा कि आरोपियों से पूछताछ चल रही है.

वीडियो देखें : RSS कार्यकर्ता की हत्या के विरोध में सड़कों पर BJP, बंद का ऐलान


यह भी पढ़ें : केरल में RSS कार्यकर्ता की बेरहमी से हत्या, भाजपा का आरोप, हमले के पीछे माकपा का हाथ

टिप्पणियां

पांच लोग हिरासत में 
उन्होंने कहा, अभी पांच लोग पुलिस हिरासत में हैं. उन्हें ग्रामीण कत्ताक्काड़ा से हिरासत में लिया गया. एक व्यक्ति कि गिरफ्तारी का प्रयास जारी है. विस्तृत पूछताछ के बाद ही पता चलेगा कि कितने लोग वारदात में शामिल थे. राज्य पुलिस प्रमुख लोकनाथ बेहेरा ने लोगों से अपील किया है कि वह अफवाहें फैलाने तथा भड़काऊ संदेश, बयान, फोटो और वीडियो साझा करने से बचें. उन्होंने कहा, इसपर कानूनी कार्रवाई होगी. उन्होंने कहा कि पुलिस व्हाट्सऐप और फेसबुक ग्रुप्स पर नजर रख रही है. 
 

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement