असम और बिहार में बाढ़ का कहर जारी, 134 लोगों की हो चुकी है मौत

बिहार में बाढ़ के कारण विस्थापित लोगों को भोजन कराने के लिए 1121 सामूदायिक रसोई की व्यवस्था की गयी है जहां 890614 लोगों को भोजन कराया गया है.

असम और बिहार में बाढ़ का कहर जारी, 134 लोगों की हो चुकी है मौत

प्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्ली:

असम के धेमाजी, बक्सा और मोरीगांव जिले बुधवार को भी जलमग्न रहे. हालांकि राज्य के ज्यादातर हिस्सों में बाढ़ का पानी कम हुआ है. एक आधिकारिक बुलेटिन में यह जानकारी दी गई है. असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एएसडीएमए) के बाढ़ बुलेटिन के अनुसार इस समय इन तीन जिलों में 14,205 लोग बाढ़ से प्रभावित हैं जबकि 7,009 हेक्टेयर कृषि भूमि पर फसल को नुकसान हुआ है. बुलेटिन के अनुसार धेमाजी सबसे बुरी तरह से प्रभावित जिला है जहां 12,908 लोग प्रभावित हैं. इसके बाद बक्सा में एक हजार लोग प्रभावित हैं और मोरीगांव में 297 लोग प्रभावित हैं.इस वर्ष बाढ़ और भूस्खलन की घटनाओं में जान गंवाने वाले लोगों की संख्या 136 है. इनमें से 110 लोगों की मौत बाढ़ से संबंधित घटनाओं और 26 की मौत भूस्खलन से हुई है.

वहीं बिहार में बाढ़ से अबतक 16 जिलों के 7718788 लोग प्रभावित हो चुके हैं. आपदा प्रबंधन विभाग से बुधवार को प्राप्त जानकारी के मुताबिक के 16 जिलों सीतामढ़ी, शिवहर, सुपौल, किशनगंज, दरभंगा, मुजफ्फरपुर, गोपालगंज, पूर्वी चम्पारण, पश्चिम चंपारण, खगड़िया, सारण, समस्तीपुर, सिवान, मधुबनी, मधेपुरा एवं सहरसा जिले के 127 प्रखंडों के 1271 पंचायतों की 7718788 लोग बाढ़ से प्रभावित हैं. वहां से निकाले गए 547664 लोगों में से 12479 व्यक्ति 7 राहत शिविरों में शरण लिए हुए हैं .

बाढ़ के कारण विस्थापित लोगों को भोजन कराने के लिए 1121 सामूदायिक रसोई की व्यवस्था की गयी है जहां 890614 लोगों को भोजन कराया गया है. दरभंगा जिले में सबसे अधिक 15 प्रखंडों के 227 पंचायतों की 2058100 लोग बाढ़ से प्रभावित हुए हैं. बिहार के बाढ़ प्रभावित इन जिलों में बचाव और राहत कार्य चलाए जाने के लिए एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की कुल 33 टीमों की तैनाती की गयी है. बिहार के इन जिलों में बाढ का कारण अधवारा समूह नदी, लखनदेई, रातो, मरहा, मनुसमारा, बागमती, अधवारा समूह, कमला बलान, गंडक, बूढ़ी गंडक, कदाने, नून, वाया, सिकरहना, लालबेकिया, तिलावे, धनौती, मसान, कोशी, गंगा, कमला बलान, करेह एवं धौंस नदी के जलस्तर का बढना है.

केरल के इडुक्की में भूस्खलन से मरने वालों की संख्या 52 हुई, असम और बिहार में बाढ़ से हालात बिगड़े

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

जल संसाधन विभाग से प्राप्त जानकारी के मुताबिक बागमती नदी सीतामढी, मुजफ्फरपुर एवं दरभंगा में, बूढी गंडक नदी समस्तीपुर एवं खगडिया में, कमला बलान नदी मधुबनी में और खिरोई दरभंगा में बुधवार को खतरे के निशान से ऊपर बह रही है. जल संसाधन विभाग के अनुसार विभाग के अंतर्गत सभी बाढ़ सुरक्षात्मक बांध सुरक्षित हैं. बिहार में बाढ़ से अबतक कुल 24 व्यक्तियों की अबतक मौत हो चकी है. 

VIDEO:देस की बात रवीश कुमार के साथ : बिहार से कब खत्म होगा बाढ़ का खतरा?



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)