NDTV Khabar

कर्नाटक सहित देश के कई राज्यों में बाढ़ का कहर, जन-जीवन बुरी तरह प्रभावित, 250 से ज्यादा की मौत

बाढ़ की वजह से देश का एक बड़ा हिस्सा बुरी तरह प्रभावित हुआ है. दक्षिण भारत के केरल और कर्नाटक, पश्चिम भारत के महाराष्ट्र, मध्य भारत की बाढ़ ने ढाई सौ से ज्यादा लोगों की जान ले ली.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कर्नाटक सहित देश के कई राज्यों में बाढ़ का कहर, जन-जीवन बुरी तरह प्रभावित, 250 से ज्यादा की मौत

देश के कई राज्यों में बाढ़ का कहर

खास बातें

  1. कर्नाटक सहित देश के कई राज्यों में बाढ़ का कहर
  2. जन-जीवन बुरी तरह प्रभावित
  3. 250 से ज्यादा की मौत
नई दिल्ली:

बाढ़ की वजह से देश का एक बड़ा हिस्सा बुरी तरह प्रभावित हुआ है. दक्षिण भारत के केरल और कर्नाटक, पश्चिम भारत के महाराष्ट्र, मध्य भारत की बाढ़ ने ढाई सौ से ज्यादा लोगों की जान ले ली. करीब 50 लोग अब भी लापता हैं. सैकड़ों राहत शिविर बनाए गए हैं, जिसमें लाखों लोगों ने शरण ली है. बाढ़ से लाखों एकड़ में फैली फसल तबाह हो गई है. इस पूरे इलाके में सेना, NDRF की टीमें राहत और बचाव के काम में जुटी हैं. कर्नाटक के कुछ जिलों में अब भी हालात बदतर हैं. बाढ़ की वजह से इन राज्यों के कई गांव पूरी तरह मुख्यधारा से कट गए हैं.

जम्मू - कश्मीर इकाई के अध्यक्ष गुलाम अहमद मीर को हिरासत में लेने पर पी. चिदंबरम ने कहा- गैर कानूनी

कर्नाटक में बाढ़ से मृतकों की संख्या 65 पहुंची
कर्नाटक में शुक्रवार को तीन और शव बरामद होने के साथ ही बाढ़ से मृतकों की संख्या बढ़कर 65 हो गई है वहीं राज्य में राहत और पुनर्वास का काम जारी है. बाढ़ की वजह से अब भी 14 लोगों को लापता बताया जा रहा है. वहीं अब तक सात लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है.    राज्य सरकार ने बताया कि जलाशयों में पानी का बहाव कम हुआ है और उत्तरी, तटीय और मलनाड के प्रभावित क्षेत्रों में हालात में सुधार हुआ है. पिछले सप्ताह इन क्षेत्रों में बारिश ने कहर मचाया था. वहीं राज्य के मुख्मंत्री बी एस येदियुरप्पा ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की और उनसे बाढ़ एवं बारिश से प्रभावित राज्य की मदद के लिए तत्काल कोष जारी करने का अनुरोध किया. प्रधानमंत्री ने आश्वासन दिया कि केंद्र की टीम जल्द ही बाढ़ से हुई क्षति का मुआयना करने जाएगी.    मुख्यमंत्री ने कहा कि अनुमान के अनुसार बाढ से 40,000 करोड़ रुपये से अधिक का नुकसान हुआ है.



कोलकाता में भारी बारिश से हालात बिगड़े
भारतीय मौसम विभाग ने पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता समेत कई जिलों में अगले चार घंटे भारी बारिश की संभावना जताई है. मौसम विभाग ने जानकारी दी है कि बांग्लादेश पर भी चक्रवाती तूफान का खतरा मंडरा रहा है. कोलकाता के कई हिस्सों में जलभराव की भी सूचना है. सेंट्रल एवेन्यू, बेहाला, इकबालपुरा क्षेत्र काफी प्रभावित हुए है. इसके अलावा एयरपोर्ट पर विमान भी कुछ घंटों विलंबित हुए हैं. वहीं, कोलकाता समेत पश्चिम बंगाल के विभिन्न हिस्सों में शुक्रवार को भारी बारिश के बीच बिजली गिरने से चार लोगों की मौत हो गई और चार बांग्लादेशी नागरिकों समेत 19 लोग घायल हो गए. राज्य आपदा प्रबंधन मंत्री जावेद अहमद खान ने यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि बिजली गिरने से कोलकाता में दो और पुरुलिया जिले में दो लोगों की मौत हो गई. खान ने बताया कि कोलकाता में 16 लोग झुलस गए और पुरुलिया में तीन अन्य लोग घायल हो गए.

पति को छोड़ विदेश जा रही थी पत्नी, रोकने के लिए एयरपोर्ट पर कॉल कर बोला- प्लेन में बैठी है फिदायिन


राजस्थान के हाड़ौती इलाके में बाढ के हालात
राजस्थान के हाड़ौती क्षेत्र में लगातार हो रही भारी बारिश के कारण बाढ के हालात हो गए हैं. बीते चौबीस घंटों में वर्षा जनित हादसों में पांच लोगों की मौत हो गई है और कोटा के जलमग्न कैथून कस्बे में राहत एवं बचाव कार्य के लिये सेना की मदद ली जा रही है. अधिकारियों ने बताया कि लगातार हो रही भारी बारिश के कारण हाड़ौती क्षेत्र के बारां, भीलवाड़ा, झालावाड़ और बूंदी में भी हालात गंभीर है और प्रशासन ने सेना को सर्तक रहने को कहा है। आपदा प्रबन्धन, सहायता एवं नागरिक सुरक्षा विभाग आशुतोष ए टी पेढेंकर ने 'भाषा' को बताया कि वर्षा जनित विभिन्न हादसों के कारण झालावाड, बारां और भीलवाडा जिले में पांच लोगों की मौत हो गई है. इस बीच कोटा के कैथून कस्बे में राहत व बचाव कार्य में सेना की मदद ली गई है. 

मध्य प्रदेश में बारिश का कहर
मध्य प्रदेश (मप्र) में हो रही भारी बारिश के बाद कई क्षेत्र जलमग्न हो गए हैं. प्रदेश के कई स्थानों पर बाढ़ जैसे हालात हैं, जिससे लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जा रहा है. मंदसौर जिले में शिवना नदी ऊफान पर है, जिसके पानी ने भगवान पशुपतिनाथ मंदिर के शिवलिंग का भी जलाभिषेक कर दिया. राजधानी स्थित बाढ़ नियंत्रण कक्ष के अनुसार, राज्य की अधिकांश नदियों का जलस्तर बढ़ रहा है. वहीं निचले स्थानों पर बसे रिहायशी इलाकों में पानी भर गया है. विभिन्न स्थानों पर राहत और बचाव कार्य जारी हैं. साथ ही निचली बस्तियों में रहने वाले परिवारों को सुरक्षित स्थानों पर भेजे जाने का सिलसिला जारी है. राज्य के मालवा निमाड़ इलाके में बीते 24 घंटों के दौरान सामान्य से अधिक बारिश हुई है.सबसे ज्यादा बारिश मंदसौर और नीमच इलाके में हुई है. 

टिप्पणियां

VIDEO: देश के कई राज्यों में बाढ़, दक्षिण भारत बुरी तरह प्रभावित​



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement