Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

बिहार और असम में बाढ़ का कहर जारी, मरने वालों की संख्या बढ़कर 166 हुई 

आपदा प्रबंधन विभाग के अनुसार बिहार के मधुबनी जिले से लोगों के मरने की सूचना मिली है और इसके साथ ही जिले में मरने वालों का आंकड़ा बढ़कर 23 पहुंच गया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बिहार और असम में बाढ़ का कहर जारी, मरने वालों की संख्या बढ़कर 166 हुई 

प्रतीकात्मक चित्र

नई दिल्ली:

बिहार और असम में बाढ़ की स्थिति अब भी भयावह बनी हुई है. दोनों राज्यों में बाढ़ से मरने वालों की संख्या 166 हो गई है जबकि प्रभावित लोगों की संख्या अब 1.11 करोड़ के पार पहुंच गई है. अभी तक मिली जानकारी के अनुसार असम में मरने वालों का आंकड़ा 64 पहुंच गया जबकि बिहार में यह आंकड़ा 102 रहा. शनिवार से दोनों राज्यों में पांच और लोगों के मरने की सूचना मिली. वहीं, बिहार में बाढ़ से 12 जिलों के 72.78 लाख लोग प्रभावित हैं जबकि असम के 33 जिलों में से 18 में रहने वाले 38.37 लाख लोग प्रभावित हैं.

असम की बाढ़ में 12 और लोगों की गई जान, बिहार में भी हालात बुरे 

आपदा प्रबंधन विभाग के अनुसार बिहार के मधुबनी जिले से लोगों के मरने की सूचना मिली है और इसके साथ ही जिले में मरने वालों का आंकड़ा बढ़कर 23 पहुंच गया है. जबकि सीतामढ़ी 27 लोगों की मौतों के साथ अब भी बाढ़ से सबसे अधिक प्रभावित जिला बना हुआ है. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सीतामढ़ी और दरभंगा जिलों में राहत शिविरों का दौरा किया. असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एएसडीएमए) के अनुसार असम में मोरीगांव से दो लोगों और धेमाजी, ग्वालपाड़ा और कामरूप से एक-एक व्यक्ति के मरने की सूचना है. 


असम, बिहार और मेघालय में बाढ़ का कहर, मरने वालों की संख्या 100 के पार

गौरतलब है कि असम के प्रभावित जिलों के 3,024 गांवों में 44,08,142 लोग बाढ़ की चपेट में हैं. काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान में बाढ़ की वजह से 13 जुलाई से अब तक 129 पशु मारे गये हैं, इनमें 10 गैंडे, आठ सांभर हिरण, आठ जंगली सुअर, पांच बारहसिंगा, एक हाथी और एक जंगली भैंस शामिल हैं. कई बाढ़ प्रभावितों ने राज्य के वित्त मंत्री हिमंत बिस्व शर्मा से कहा था कि उन्हें राहत केंद्रों में न तो पर्याप्त राहत सामग्री दी जा रही है और न ही रहने की सुविधा है. असम की तरह ही बिहार में भी बाढ़ से बुरे हाल हैं. अभी तक बाढ़ की वजह से पांच और लोगों की मौत हो चुकी है.अब यह आंकड़ा बढ़कर 97 हो गया है. राज्य के आपदा प्रबंधन विभाग ने यह जानकारी दी है.

गुफा में भरा पानी तो घर में बेड पर आराम फरमाता दिखा बाघ, देखते ही चीख पड़े लोग

मधुबनी जिले से चार लोगों और दरभंगा से एक व्यक्ति के मरने की सूचना है, जिससे मधुबनी में हताहतों की संख्या अब 18 और दरभंगा में 10 हो गयी है. आपदा प्रबंधन विभाग ने एक रिपोर्ट में कहा था कि सीतामढ़ी में 27 लोगों के मरने की सूचना है और यह बाढ़ से सबसे अधिक प्रभावित जिला बना हुआ था. उप-मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने राहत एवं पुनर्वास का जायजा लेने के लिये शनिवार को सीतामढ़ी जिले का दौरा किया. बिहार में कुल 12 जिले बाढ़ से प्रभावित हैं. वहीं, बारिश की वजह से दक्षिण के राज्य भी खासे प्रभावित हुए हैं.

टिप्पणियां

बिहार और असम में बाढ़ का सितम जारी, अभी तक 97 लोगों की गई जान

बारिश जनित घटनाओं में तमिलनाडु में भी दो लोगों की मौत हुई है और तीन मछुआरों समेत चार लोग लापता हैं. केरल में भी लगातार भारी बारिश जारी है. राज्य के कासरगोड जिले में कुडुले में शनिवार तक 30 सेंटीमीटर से अधिक बारिश दर्ज की गई.पर्वतीय इडुक्की जिले के कोन्नाथाडी गांव में शनिवारद की सुबह भूस्खलन की मामूली घटना हुई, जिससे फसलें बर्बाद हो गयीं. आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि घटना में कोई हताहत नहीं है. राष्ट्रीय राजधानी में भी भारी बारिश होने से लोगों को उमस भरे मौसम से राहत मिली. न्यूनतम तापमान 28.8 डिग्री सेल्सियस और सुबह साढ़े आठ बजे तक हवा में नमी का स्तर 74 प्रतिशत दर्ज किया गया. (इनपुट भाषा से) 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... आरती सिंह पर हुआ बिग बॉस का गहरा असर, भाई कृष्णा अभिषेक ने Video शेयर कर खोला राज

Advertisement