Coronavirus Lockdown: प्रवासी मजदूरों को मुफ्त अनाज पर आज प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे खाद्य मंत्री रामविलास पासवान

केंद्रीय खाद्य और आपूर्ति मंत्री रामविलास पासवान (Ram Vilas Paswan) आज (16 मई) वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे.

Coronavirus Lockdown: प्रवासी मजदूरों को मुफ्त अनाज पर आज प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे खाद्य मंत्री रामविलास पासवान

रामविलास पासवान केंद्रीय खाद्य और आपूर्ति मंत्री हैं. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • केंद्रीय खाद्य और आपूर्ति मंत्री हैं रामविलास पासवान
  • 8 करोड़ प्रवासी मजदूरों को दिया जाएगा मुफ्त अनाज
  • हर राशन कार्ड पर प्रति यूनिट पांच किलो चावल मुफ्त
नई दिल्ली:

केंद्रीय खाद्य और आपूर्ति मंत्री रामविलास पासवान (Ram Vilas Paswan) आज (16 मई) वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे. पासवान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) द्वारा घोषित 20 लाख करोड़ रुपये के विशेष पैकेज के तहत वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) के द्वारा 8 करोड़ प्रवासी मजदूरों को मुफ्त अनाज व चना वितरण की घोषणा संबंधित क्रियान्वयन के विषय पर अपने मंत्रालय संबंधी बात रखेंगे.

केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान की प्रेस कॉन्फ्रेंस में इस योजना के लिए अतिरिक्त अनाज की उपलब्धता, उसके वितरण, लाभार्थियों की पहचान, राज्य सरकारों की जिम्मेदारी सहित इससे जुड़े तमाम मुद्दों की चर्चा की जाएगी.

बताते चलें कि रामविलास पासवान ने शुक्रवार को NDTV के साथ बातचीत में स्‍वीकार किया था कि कोरोनावायरस महामारी के चलते लॉकडाउन झेल रहे देश के श्रमिक-गरीब वर्ग के लिए पांच किलो राशन जैसी घोषणा करने में देर हुई है. हालांकि उन्‍होंने इसके पीछे की वजह भी बताई. उन्‍होंने कहा कि देश में कितने मजदूर व गरीब हैं, यह पता लगाना मुश्किल हैं. ऐसे में घोषणा में कुछ देर होना स्‍वाभाविक था.

उन्होंने कहा, 'हमने यह पता लगाने के प्रयास किया कि किस राज्य में कितने मजदूर हैं. इसका सटीक आंकड़ा नहीं मिल पा रहा है. ऐसे में यह फैसला किया गया कि इसे राज्‍य सरकारों को सौंप दें और यह काम करें.'

उन्‍होंने कहा कि सरकार की ओर से कोरोना महामारी के चलते आर्थिक संकट का सामना कर रहे 81 करोड़ लाभा‍र्थियों के लिए ऐतिहासिक घोषणा की गई है. यह पूछने पर कि क्‍या प्रवासी मजदूरों के लिए प्रति व्‍यक्ति पांच किलोग्राम अनाज पर्याप्‍त है, केंद्रीय खाद्य और नागरिक आपूर्ति मंत्री ने कहा, 'पांच किलो अनाज वाला फूड सिक्‍योरिटी एक्‍ट कांग्रेस के समय का है. कांग्रेस ने यह किस हिसाब से रखा था. हम तो उसका पालन कर रहे हैं. यह एक्‍ट यदि 2014 के बाद बनता हो हमारे ऊपर दोषारोपण करना ठीक होता. हम दिन-रात काम कर रहे हैं.'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO: रवीश कुमार का प्राइम टाइम : कोरोना संकट में छोटे उद्योगों को बड़ा पैकेज



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)