NDTV Khabar

अरविंद केजरीवाल के शपथ ग्रहण के दौरान सुरक्षा के लिए 1600 पुलिसकर्मी तैनात

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
अरविंद केजरीवाल के शपथ ग्रहण के दौरान सुरक्षा के लिए 1600 पुलिसकर्मी तैनात
नई दिल्ली: राजधानी दिल्ली के रामलीला मैदान में दिल्ली पुलिस के करीब 1600 कर्मी कड़ी निगरानी रखेंगे जहां शनिवार को आम आदमी पार्टी (आप) नेता अरविंद केजरीवाल दिल्ली के सातवें मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ग्रहण करेंगे।

सुरक्षा विंग मंच की सुरक्षा का जिम्मा संभालेगा जहां दिल्ली के उपराज्यपाल नजीब जंग केजरीवाल और छह अन्य मंत्रियों को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाएंगे। यह केवल दूसरी बार होगा जब शपथग्रहण समारोह सार्वजनिक स्थान पर होगा।

वर्ष 1996 में भाजपा नेता साहिब सिंह वर्मा ने छत्रसाल स्टेडिम में आयोजित एक समारोह में शपथ ली थी।

पूर्ण सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए दिल्ली पुलिस की अलग-अलग इकाइयों को अलग जिम्मेदारियां सौंपी गई हैं। आयोजन स्थल पर हर समय निगरानी तथा सुरक्षा कर्मियों के बीच समन्वय करने के लिए एक केंद्रीय नियंत्रण कक्ष स्थापित किया गया है। पूरे कार्यक्रम की निगरानी करने के लिए दिल्ली पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी नियंत्रण कक्ष में मौजूद रहेंगे।

कानून एवं व्यवस्था तथा भीड़ प्रबंधन की जिम्मेदारी मध्य क्षेत्र की जिम्मेदारी होगी जबकि यातायात पुलिस वाहनों का आवागमन नियंत्रित करेगी।

20 से अधिक महत्वपूर्ण स्थानों पर सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं और समारोह के दौरान ऊंची इमारतों पर स्पॉटर तैनात किए जाएंगे। आयोजन स्थल पर दिल्ली पुलिस के कमांडो और दंगा विरोधी पुलिस एवं वाहनों के साथ बम दस्ते भी तैनात किए जाएंगे। आयोजन स्थल पर एक बार आज शाम में जांच की जाएगी और उसके बाद कल सुबह मेटल डिटेक्टर और खोजी कुत्तों से जांच की जाएगी। समारोह के दौरान वर्दी में पुलिसकर्मियों के साथ ही भीड़ और आसपास के क्षेत्रों में सादे कपड़े में पुलिसकर्मी मौजूद रहेंगे।

दिल्ली पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, 'हम शपथ ग्रहण समारोह में 30 से 35 हजार लोगों के आने की उम्मीद कर रहे हैं। पर्याप्त सुरक्षा इंतजाम किये गए हैं। प्रत्येक आने वाले की ठीक ढंग से जांच की जाएगी जबकि प्रत्येक प्रवेशद्वार पर मेटल डिटेक्टर चौखट लगाई गई है।'

पुलिस ने बताया कि पांच प्रवेशद्वारों में से एक को वीवीआईपी के लिए आरक्षित रखा जाएगा जबकि तीन प्रवेशद्वारों को आम जनता के लिए खुला रखा जाएगा। चौथे प्रवेशद्वार को आपात स्थिति के लिए रखा जाएगा।

केजरीवाल ने गत सोमवार को दिल्ली के उपराज्यपाल के साथ बैठक के दौरान रामलीला मैदान में शपथग्रहण करने की इच्छा जतायी थी क्योंकि वह स्थान जनलोकपाल आंदोलन से जुड़ा हुआ रहा है और वह यह भी चाहते थे कि आम जनता इस कार्यक्रम का हिस्सा बने।

टिप्पणियां

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement