कश्मीर में सुरक्षाबलों की संख्या 25% कम होगी

खास बातें

  • केंद्रीय गृह सचिव जीके पिल्लै ने कहा है कि केंद्र सरकार जम्मू-कश्मीर में तैनात सुरक्षाबलों की संख्या में 25 प्रतिशत तक कटौती का इरादा कर रही है।
New Delhi:

केंद्रीय गृह सचिव जीके पिल्लै ने शुक्रवार को कहा कि जम्मू-कश्मीर में तैनात सुरक्षाबलों की संख्या में 25 फीसदी तक कटौती की जाएगी। पिल्लै ने कहा, सरकार जम्मू-कश्मीर में तैनात सुरक्षाबलों की संख्या में 25 प्रतिशत तक कटौती का इरादा कर रही है। उन्होंने कहा कि हमने श्रीनगर में सुरक्षाबलों की संख्या पहले ही कम कर दी है, क्योंकि आबादी वाले क्षेत्रों में सुरक्षाबल कम से कम संख्या में होने चाहिए। स्थानीय पुलिस को ही हालात से निपटने देना चाहिए। विश्वास बहाल करने के उपाय के तौर पर हमने यह कदम उठाया है। हम चाहते हैं कि सभी बल केवल सीमाओं पर तैनात हों, ताकि घुसपैठ रोकी जा सके। उन्होंने कहा कि श्रीनगर से और बंकर हटाए जाएंगे। उल्लेखनीय है कि पिल्लै ने कुछ दिन पहले ही संकेत दिया था कि जम्मू-कश्मीर के जिन इलाकों में लंबे समय तक शांति कायम रहती है, वहां सुरक्षाबलों की संख्या कम की जाएगी। पिल्लै ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा नियुक्त वार्ताकारों से कहा गया है कि वे राजनीतिक समाधान को लेकर अपने अंतिम प्रस्ताव अप्रैल तक सरकार को सौंप दें। गृह सचिव जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित गोष्ठी वे फारवर्ड इन कश्मीर में शिरकत कर रहे थे। कश्मीर समस्या का समाधान सुझाने के लिए सरकार ने पत्रकार दिलीप पडगांवकर, शिक्षाविद राधा कुमार और पूर्व मुख्य सूचना आयुक्त एमएम अंसारी को वार्ताकार नियुक्त किया था। पिल्लै ने कहा कि हमने कश्मीर और पाक अधिकृत कश्मीर की जनता को 15 दिन मुलाकात की अनुमति दी है। छह महीने के बहु-प्रवेश पास भी जारी किए जाते हैं।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com