असम के पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गोगोई का 86 वर्ष की उम्र में निधन, राज्य में 3 दिनों का राजकीय शोक

Tarun Gogoi Passes away :पूर्व मुख्यमंत्री के निधन पर असम में तीन दिन के राजकीय शोक की घोषणा की गई है. दो दिन तक गोगोई का पार्थिव शरीर आम जनता द्वारा दर्शन के लिए रखा जाएगा. तरुण गोगोई का अंतिम संस्कार पूरे राजकीय सम्मान के साथ 26 नवंबर को किया जाएगा

असम के पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गोगोई का 86 वर्ष की उम्र में निधन, राज्य में 3 दिनों का राजकीय शोक

Tarun Gogoi तीन बार असम के मुख्यमंत्री रहे, अगस्त में उन्हें कोविड संक्रमण हुआ था

असम (Assam) के तीन बार मुख्यमंत्री रहे तरुण गोगोई (Tarun Gogoi Passes away) का सोमवार शाम को निधन हो गया. गुवाहाटी मेडिकल कॉलेज में पिछले तीन दिनों से वह लगातार जीवनरक्षक प्रणाली पर थे. रविवार को उनके स्वास्थ्य में सुधार के कुछ संकेत दिखाई दिए थे, लेकिन शनिवार सुबह हालत बिगड़ने के बाद उन्हें बचाया नहीं जा सका. तरुण गोगोई Covid-19 से अक्टूबर में उबर गए थे, लेकिन बीमारी के बाद की जटिलताओं ने उन्हें घेर लिया था. इस दौरान वह करीब तीन माह से अस्पताल में रहे.

यह भी पढ़ें- राष्ट्रपति-प्रधानमंत्री और राहुल गांधी ने असम के पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गोगोई के निधन पर जताया शोक

पूर्व मुख्यमंत्री के निधन पर असम में तीन दिन के राजकीय शोक (State Mourning) की घोषणा की गई है. दो दिन तक गोगोई का पार्थिव शरीर आम जनता द्वारा दर्शन के लिए रखा जाएगा. तरुण गोगोई ( (Tarun Gogoi ) का अंतिम संस्कार पूरे राजकीय सम्मान के साथ 26 नवंबर को किया जाएगा. उनका पार्थिव शरीर सोमवार को गुवाहाटी मेडिकल कॉलेज हास्पिटल में ही रहेगा. मंगलवार को गोगोई की पार्थिव देह को उनके सरकारी आवास पर ले जाया जाएगा. पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गोगोई (Assam Ex Chief Minister Tarun Gogoi) के निधन के बाद राज्य के मौजूदा सीएम सर्बानंद सोनोवाल ने सारे कार्यक्रम रद्द कर दिए और वह गुवाहाटी पहुंच रहे हैं.

86 साल के तरुण गोगोई शनिवार को बेसुध हो गए थे, तब से उन्हें लाइफसपोर्ट पर रखा गया था. इससे पहले सोमवार सुबह तरुण गोगोई के बेटे और कांग्रेस सांसद गौरव गोगोई ने कहा था कि राज्य के और देश के कई बड़े नेता अस्पताल में उनके परिवार से मुलाकात कर उनके पिता का हालचाल लिया था.बेहद भावुक गौरव ने कहा, "प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, कांग्रेस नेता राहुल गांधी समेत कई बड़े नेता उनके पिता का हालचाल जाना. उन्होंने कहा, मेरे पिता करीब तीन माह से अस्पताल में रहे. डॉक्टरों का कहना है कि जिस तरह का साहस मेरे पिता ने दिखाया है, वैसा तो बहुत सारे युवा भी नहीं दिखा पाते. "

Newsbeep

गौरव ने बताया कि अस्पताल प्रबंधन ने आईसीयू के भीतर लोगों की प्रार्थनाओं, भूपेन हजारिका के गीत और पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के भाषणों को प्रसारित करने के लिए साउंड सिस्टम की इजाजत दी थी. हालांकि यह थेरेपी भी चमत्कार नहीं कर पाई. रविवार रात से तरुण गोगोई की पत्नी, बेटे, बेटी समेत पूरा परिवार अस्पताल में ही मौजूद थे.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


असम के स्वास्थ्य मंत्री हिमंता बिस्वा सरमा ने सोमवार सुबह कहा था कि तरुण गोगोई के अंगों ने काम करना बंद कर दिया था, दिमाग को कुछ संकेत मिल रहे थे. पेसमेकर लगाये जाने के बाद उनका दिल काम कर रहा था. इसके अलावा कोई अंग काम नहीं कर रहा.गोगोई का रविवार को छह घंटे तक डाय​लिसिस हुआ था, लेकिन यह दोबारा विषाक्त चीजों से भर गया है. लेकिन ऐसी हालत नहीं थी कि उनका डायलिसिस दोबारा किया जा सके.