NDTV Khabar

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद यूपी के इन पूर्व मुख्यमंत्रियों से छिन जाएंगे 'सरकारी आशियाने'

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद जिन्हें सरकारी बंगला खाली करना होगा, उनकी फेहरिस्त में समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी और BJP के कई पूर्व मुख्यमंत्री शामिल हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद यूपी के इन पूर्व मुख्यमंत्रियों से छिन जाएंगे 'सरकारी आशियाने'

मायावती का सरकारी बंगला

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्रियों को जीवन-भर के लिए सरकारी बंगला आवंटित किए जाने से जुड़े मामले में सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को अहम फैसला सुनाया है, जिसके बाद कई पूर्व मुख्यमंत्रियों को अपना सरकारी आशियाना छोड़ना पड़ेगा. सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद जिन्हें सरकारी बंगला खाली करना होगा, उनकी फेहरिस्त में समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी और BJP के कई पूर्व मुख्यमंत्री शामिल हैं. बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने UP सरकार के कानून को रद्द करते हुए कहा है कि यह कानून संविधान के खिलाफ है, समानता के मौलिक अधिकार के खिलाफ है और मनमाना है.
 

यह भी पढ़ें : UP सरकार को SC से झटका, पूर्व CM को सरकारी बंगले खाली करने का आदेश


तो चलिए, जानते हैं कि किन-किन पूर्व मुख्यमंत्रियों को खाली करने होंगे सरकारी बंगले...

1. अखिलेश यादव : वर्तमान में समाजवादी पार्टी के मुखिया हैं. CM योगी आदित्यनाथ से पहले अखिलेश ही उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री थे. यही वजह है कि उनका नाम भी इस फेहरिस्त में दर्शाज है, जिनके नाम सरकारी बंगला आवंटित है. अखिलेश यादव साल 2012 से लेकर 2017 तक UP के मुख्यमंत्री रहे.

यह भी पढ़ें : कर्नाटक के रण में 883 करोड़पति, 645 उम्मीदवारों पर दर्ज हैं अापराधिक मामले 

2. मुलायम सिंह यादव : पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के पिता मुलायम सिंह यादव सपा के संस्थापक हैं और यूपी के मुख्यमंत्री भी रह चुके हैं. मुलायम सिंह के नाम भी सरकारी बंगला आवंटित है. साल 1992 में उन्होंने समाजवादी पार्टी बनाई. वह एक बार नहीं, बल्कि तीन बार राज्य के मुख्यमंत्री रहे हैं. मुलायम सिंह यादव क्रमशः 5 दिसम्बर, 1989 से 24 जनवरी, 1991 तक, 5 दिसम्बर, 1993 से 3 जून, 1996 तक और 29 अगस्त, 2003 से 11 मई, 2007 तक उत्तर प्रदेश के मुख्यमन्त्री रहे.

यह भी पढ़ें : मोदी सरकार ने नोटबंदी, जल्दबाजी में GST लागू कर बड़ी गलतियां कीं : डॉ. मनमोहन सिंह

3. राजनाथ सिंह : राजनाथ सिंह BJP के कद्दावर नेता हैं और अभी मोदी सरकार में गृहमंत्री हैं. राजनाथ सिंह के नाम पर भी यूपी में सरकारी बंगला आवंटित है, क्योंकि 28 अक्टूबर, 2000 से 8 मार्च, 2002 तक वह भी यूपी के मुख्यमंत्री रह चुके हैं. राजनाथ सिंह 19वें मुख्यमंत्री के रूप में राज्य को सेवा दे चुके हैं.

4. कल्याण सिंह : वर्तमान में कल्याण सिंह राजस्थान के गवर्नर हैं. कल्याण सिंह दो बार यूपी के मुख्यमंत्री रहे हैं. एक बार वह 24 जून, 1991 से 6 दिसम्बर, 1992 तक मुख्यमंत्री रहे और दूसरी बार वह 21 सितम्बर, 1997 से 12 नवम्बर, 1999 तक UP के CM रहे.

यह भी पढ़ें : योगी सरकार के फीस अध्यादेश के खिलाफ निजी स्कूल संगठन की SC में याचिका

5. मायावती : मायावती बहुजन समाजवादी पार्टी की मुखिया हैं और यूपी की सत्ता हासिल करने के लिए काफी सक्रिय नजर आ रही हैं. मायावती चार बार यूपी की सीएम रह चुकी हैं. उनका आखिरी कार्यकाल 13 मई, 2007 से 15 मार्च, 2012 रहा है. इनके नाम पर भी पूर्व मुख्यमंत्री होने के नाते सरकारी बंगला आवंटित है. 

टिप्पणियां
6. नारायणदत्त तिवारी : नारायणदत्त तिवारी भारतीय राजनीति में काफी जाना-पहचाना नाम हैं. नारायणदत्त तिवारी उत्तर प्रदेश के साथ-साथ उत्तराखंड के भी मुख्यमंत्री रह चुके हैं. ये तीन बार उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे. इन्हें भी अब सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद सरकारी बंगला खाली करना होगा.

VIDEO:यूपी में पूर्व सीएम बंगले के हक़दार नहीं : सुप्रीम कोर्ट


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement