NDTV Khabar

शीना बोरा हत्याकांड में वायदा माफ गवाह बना इंद्राणी मुखर्जी का पूर्व चालक श्यामवर राय

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
शीना बोरा हत्याकांड में वायदा माफ गवाह बना इंद्राणी मुखर्जी का पूर्व चालक श्यामवर राय

शीना बोरा की तस्वीर

मुंबई:

सीबीआई की एक विशेष अदालत ने 2012 के सनसनीखेज शीना बोरा हत्याकांड में प्रमुख आरोपी इंद्राणी मुखर्जी के पूर्व चालक श्यामवर राय को आज (सोमवार) वायदा माफ गवाह बनाया। विशेष न्यायाधीश एचएस महाजन ने ठाणे केंद्रीय कारागार में बंद राय को क्षमा भी प्रदान कर दी।

खुद के सरकारी गवाह बनने की जताई थी इच्छा
आरोपी ने पिछले महीने अदालत में एक आवेदन दायर कर खुद के सरकारी गवाह बनने की इच्छा जताई थी और खुद को क्षमा दिए जाने की भी मांग की थी। सीबीआई ने भी कहा था कि राय के सरकारी गवाह बनने पर उसे कोई आपत्ति नहीं है। आज, न्यायाधीश महाजन ने कहा कि राय को सच बोलना होगा।

न्यायाधीश ने राय से कहा, 'तुम जो भी जानते हो, क्या हुआ, तुमने क्या किया और अन्य लोगों ने क्या किया, तुम्हें उस बारे में सच बोलना होगा।' जब राय ने इसका जवाब हां में दिया तो न्यायाधीश ने उससे कहा कि उसे शीना बोरा हत्या मामले में अपनी तथा अन्य लोगों की भूमिका बतानी होगी, जिस पर वह सहमत हो गया।

अब राय मामले में गवाह है, न कि आरोपी
सीबीआई के सूत्रों ने कहा कि क्योंकि राय को क्षमा दे दी गई है, इसलिए वह अब मामले में गवाह है, न कि आरोपी। वायदा माफ गवाह बनने की अपनी इच्छा व्यक्त करते हुए राय ने पूर्व में कहा था कि वह मामले में 'पूरे सच का खुलासा' करना चाहता है।


अदालत के समक्ष अपना बयान दर्ज कराते हुए राय ने कहा था कि मामले में तथ्यों का खुलासा करने के लिए उस पर कोई दबाव नहीं है या उसे कोई धमकी नहीं मिली है या उससे कोई जबरदस्ती नहीं की गई है और वह अपने कृत्य को लेकर 'पश्चाताप करता है।'

राय ने पिछले महीने अदालत को दो पन्नों का पत्र लिखकर मामले में क्षमा मांगी थी और कहा था कि वह हर चीज का खुलासा करना चाहता है। हत्याकांड के प्रकाश में आने के बाद मामले में राय अगस्त 2015 में गिरफ्तार होने वाला पहला आरोपी था।

टिप्पणियां

रायगढ़ में एक जंगल में मिला था शीना का शव
मामले में प्रमुख आरोपी इंद्राणी मुखर्जी, उसके पूर्व पति संजीव खन्ना और राय ने अप्रैल 2012 में एक कार के भीतर इंद्राणी के पूर्व के रिश्ते से हुई उसकी बेटी शीना की कथित तौर पर गला घोंटकर हत्या कर दी थी। शीना का शव रायगढ़ में एक जंगल में मिला था। अपराध पिछले साल अगस्त में प्रकाश में आया था जिसका संबंध कथित तौर पर कुछ वित्तीय लेन-देन से बताया जाता है।

तीनों को पिछले साल अगस्त में गिरफ्तार किया गया था, जबकि इंद्राणी के पति एवं पूर्व मीडिया दिग्गज पीटर मुखर्जी को नवंबर में गिरफ्तार किया गया था। सीबीआई ने पीटर को हत्या की साजिश का हिस्सा बताया था। पीटर और खन्ना जहां ऑर्थर रोड जेल में बंद हैं, वहीं इंद्राणी मुंबई में भायकुला महिला जेल में बंद है।



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement