PM मोदी के 2013 के ट्वीट को लेकर पूर्व वित्त मंत्री चिदंबरम का हमला, बोले- आदरणीय प्रधानमंत्री जी...

पीएम मोदी ने 30 नवंबर, 2013 को किए गए इस ट्वीट में तत्कालीन मनमोहन सरकार में वित्त मंत्री पी चिदंबरम को 'राजनीति छोड़कर अर्थव्यवस्था पर ध्यान देने' की सलाह दी थी. इसपर चिदंबरम ने कहा कि वो भी पीएम मोदी से यही कहना चाहते हैं.

PM मोदी के 2013 के ट्वीट को लेकर पूर्व वित्त मंत्री चिदंबरम का हमला, बोले- आदरणीय प्रधानमंत्री जी...

चिदंबरम के वित्त मंत्री के कार्यकाल के दौरान पीएम मोदी ने उनपर किया था हमला.

खास बातें

  • PM मोदी पर चिदंबरम का हमला
  • 2013 का ट्वीट किया शेयर
  • अर्थव्यवस्था पर ध्यान देने को कहा
नई दिल्ली:

पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम (P. Chidambaram) ने अर्थव्यवस्था (Indian Economy) को लेकर केंद्र सरकार पर दिलचस्प तरीके से हमला बोला है. उन्होंने बुधवार को एक ट्वीट किया, जिसमें उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) का एक बहुत ही पुराना ट्वीट शेयर किया और इस ट्वीट के जरिए ही उन्होंने मोदी सरकार पर निशाना साधा है. पीएम मोदी ने 30 नवंबर, 2013 को किए गए इस ट्वीट में तत्कालीन मनमोहन सरकार में वित्त मंत्री पी चिदंबरम को 'राजनीति छोड़कर अर्थव्यवस्था पर ध्यान देने' की सलाह दी थी. इसपर चिदंबरम ने कहा कि वो भी पीएम मोदी से यही कहना चाहते हैं.

चिदंबरम की ओर से शेयर किए गए इस ट्वीट में पीएम मोदी ने लिखा था, 'अर्थव्यस्था मुश्किल में है. युवाओं को नौकरी चाहिए. छिछली राजनीति करने के बजाय अर्थव्यवस्था को देखिए. चिदंबरम जी, जिस काम की जिम्मेदारी है, उसपर ध्यान दीजिए.'

इसपर चिदंबरम ने अपने ट्वीट में लिखा, 'आदरणीय प्रधानमंत्री जी, मुझे भी आपसे यही कहना है.'

बता दें कि कोरोनावायरस से पहले से ही भारतीय अर्थव्यस्था सुस्त चल रही थी, वहीं एविएशन सेक्टर, NBFC सेक्टर और ऑटो सेक्टर बुरी तरह से प्रभावित थे. लेकिन कोरोनावायरस से देश की अर्थव्यस्था पस्त हो चुकी है. सोमवार को केंद्र सरकार ने जीडीपी के आंकड़ें जारी किए गए हैं. चालू वित्त वर्ष 2020-21 की अप्रैल-जून तिमाही में 23.9 प्रतिशत की भारी गिरावट आई है. 40 सालों बाद जीडीपी में ऐसी गिरावट देखी गई है. वहीं, देश में कोरोड़ों लोगों को अपने रोजगार से हाथ धोना पड़ा है.

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने जीडीपी काउंसिल की बैठक के बाद कोरोनवायरस महामारी को एक्ट ऑफ गॉड यानी दैवीय आपदा बताया था. उन्होंने राज्यों की ओर से जीएसटी क्षतिपूर्ति की मांग करने पर राजस्व में कमी के लिए महामारी को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा था, "इस साल हम असाधारण स्थिति का सामना कर रहे हैं. हम दैवीय घटना का सामना कर रहे हैं, जहां हमें अर्थव्यवस्था में गिरावट भी देखनी पड़ सकती है.' इस पर चिदंबरम ने उनपर हमला करते हुए कहा था कि  'भगवान को दोष मत दें, बल्कि आपको तो भगवान को धन्यवाद कहना चाहिए. भगवान ने देश के किसानों को आशीर्वाद दिया है. कोरोना वायरस महामारी एक प्राकृतिक आपदा है, लेकिन आप, महामारी को, जो कि एक प्राकृतिक आपदा है, उसे मनुष्य निर्मित आपदा से जोड़ रहे हैं.'

Video: जानिए GDP के आंकड़ों पर अर्थशास्त्रियों का क्या है कहना?

Newsbeep

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com