Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने मोदी सरकार पर साधा निशाना, कही यह बात...

मनमोहन सिंह कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल की पुस्तक 'शेड्स ऑफ ट्रुथ' के विमोचन के मौके पर बोल रहे थे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने मोदी सरकार पर साधा निशाना, कही यह बात...

मनमोहन सिंह ने पीएम मोदी पर साधा निशाना

खास बातें

  1. कपिल सिब्बल की किताब का विमोचन कार्यक्रम में आए थे मनमोहन सिंह
  2. पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा आज सभी लोग भय के माहौल में जी रहे हैं
  3. दलितों की हालत पर भी की बात
नई दिल्ली:

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने शुक्रवार को नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि मौजूदा सरकार सभी मोर्चों पर बुरी तरह से विफल रही है. उन्होंने कहा कि अब देश में वैकल्पिक विमर्श पर गौर करने और अपनाने की जरूरत है. पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा कि इस सरकार में किसान और नौजवान परेशान हैं, वहीं दलितों एवं अल्पसंख्यको में असुरक्षा का भाव है. गौरतलब है कि मनमोहन सिंह कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल की पुस्तक 'शेड्स ऑफ ट्रुथ' के विमोचन के मौके पर बोल रहे थे. उन्होंने पूर्व उप राष्ट्रपति हामिद अंसारी के साथ इस पुस्तक का विमोचन किया.

यह भी पढ़ें: मनमोहन सिंह सरकार में ज़्यादा थी विकास दर, मोदी सरकार ने फजीहत के बाद हटाया डाटा


टिप्पणियां

मनमोहन सिंह ने पुस्तक की सराहना करते हुए कहा कि यह पुस्तक बहुत अच्छी तरह शोध करने के बाद लिखी गयी है. यह पुस्तक मोदी सरकार का समग्र विश्लेषण है. यह सरकार की नाकामियां बताती है. उन्होंने कहा कि यह बताती है कि इस सरकार ने जो वादे किए, पूरे नहीं किये. पूर्व पीएम ने कहा कि देश में कृषि संकट है. किसान परेशान हैं और आंदोलन कर रहे हैं. युवा दो करोड़ रुपये नौकरियों का इंतजार कर रहे हैं. उन्होंने आरोप लगाया कि औद्योगिक उत्पादन और प्रगति थम गई है. नोटबंदी और गलत ढंग से लागू की गई जीएसटी की वजह से कारोबार पर असर पड़ा.

VIDEO: पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने केंद्र सरकार पर साधा निशाना.

विदेशों में कथित तौर जमा धन को लाने के लिए कुछ नहीं किया गया है. दलित और अल्पसंख्यक डरे हुए हैं. उन्होंने सरकार पर विदेश नीति के मोर्चे पर विफल रहने का आरोप लगाते हुए कहा कि पड़ोसियों के साथ हमारे संबन्ध खराब हुए हैं. आज ऐसे हालात हैं कि शैक्षणिक आजादी तक पर अंकुश लगाया जा रहा है. इतना ही नहीं विश्वविद्यालयों में भी माहौल खराब किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि देश को वैकल्पिक विमर्श पर गौर करने और अपनाने की जरूरत है.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... कमल हासन की फिल्म के सेट पर हादसा, 3 असिस्टेंट डायरेक्टर्स की मौत जबकि 9 लोग घायल

Advertisement