नागरिकता कानून के खिलाफ विरोध प्रदर्शन के चलते दिल्ली के इन चार मेट्रो स्टेशनों पर आवाजाही बंद

दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन ने दक्षिणपूर्वी दिल्ली में संशोधित नागरिकता अधिनियम के खिलाफ हिंसक प्रदर्शनों को देखते हुए रविवार शाम को सुखदेव विहार मेट्रो स्टेशन का प्रवेश एवं निकास द्वार बंद कर दिया.

नागरिकता कानून के खिलाफ विरोध प्रदर्शन के चलते दिल्ली के इन चार मेट्रो स्टेशनों पर आवाजाही बंद

दक्षिणी दिल्ली में चार मेट्रो स्टेशनों के प्रवेश एवं निकास द्वार बंद (फाइल फोटो)

खास बातें

  • दिल्ली में नागरिकता कानून के विरोध में प्रदर्शन हुआ हिंसक
  • दिल्ली पुलिस के सुझाव के बाद DMRC ने 4 मेट्रो स्टेशनों को किया बंद
  • सुरक्षा के मद्देनजर उठाया गया कदम
नई दिल्ली:

दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन ने दक्षिणपूर्वी दिल्ली में संशोधित नागरिकता अधिनियम के खिलाफ हिंसक प्रदर्शनों को देखते हुए रविवार शाम को सुखदेव विहार मेट्रो स्टेशन का प्रवेश एवं निकास द्वार बंद कर दिया. डीएमआरसी ने ट्वीट किया, ‘‘दिल्ली पुलिस की सलाह पर सुखदेव विहार के प्रवेश और निकास द्वार तथा आश्रम स्टेशन के गेट नंबर 3 को बंद कर दिया गया है. ट्रेन सुखदेव विहार स्टेशन पर नहीं रुकेगी.'' जामिया मिल्लिया इस्लामिया, ओखला विहार, जसोला विहार, शाहीन बाग के प्रवेश एवं निकास द्वार भी बंद कर दिए गए हैं और इन स्टेशनों पर कोई ट्रेन नहीं रुकेगी.

नागरिकता कानून के खिलाफ जामिया इलाके में प्रदर्शन हुआ हिंसक, 3 बसों में लगाई आग

संशोधित नागरिकता कानून का विरोध कर रहे प्रदर्शनकारियों का रविवार को पुलिस के साथ संघर्ष हो गया और उन्होंने दक्षिण पूर्व दिल्ली के न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी में डीटीसी की कई बसों और एक अग्निशमन गाड़ी में आग लगा दी. पुलिस ने बताया कि इस हिंसक प्रदर्शन में एक सिपाही और दो दमकलकर्मी जख्मी हो गए. हालांकि, जामिया मिल्लिया छात्रों के समूह ने बयान जारी कर नागरिकता अधिनियम के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान हुई हिंसा से खुद को अलग किया. 

जामियाः NRC और नागिरकता कानून के विरोध के बीच सेमेस्टर परीक्षा स्थगित

जामिया मिल्लिया इस्लामिया छात्रों के एक समूह ने कहा कि हिंसा और आगजनी से उनका कोई लेना-देना नहीं है. उन्होंने आरोप लगाए कि ‘‘स्थानीय तत्व'' प्रदर्शन में शामिल हो गए और उन्होंने इसे ''बाधित किया.'' उन्होंने कहा कि प्रदर्शन हिंसक हो जाने के कारण वे परिसर में लौट आए और परिसर में शांतिपूर्ण तरीके से विरोध कर रहे हैं. कुछ प्रदर्शनकारियों ने दावा किया कि जब वे शांतिपूर्ण तरीके से आंदोलन कर रहे थे तो पुलिस ने उन पर लाठीचार्ज किया. 

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com