चार माह से एक दर्जन भैंसों की तलाश में जुटी रही पुलिस को सिर्फ आरोपी मिले

चार माह से एक दर्जन भैंसों की तलाश में जुटी रही पुलिस को सिर्फ आरोपी मिले

प्रतीकात्मक फोटो

नई दिल्ली:

पिछले चार महीने से करीब 15 लाख रुपये कीमत की 12 भैंसों की तलाश में दर-दर भटकती रही दिल्ली पुलिस को भैंसें तो नहीं मिल सकीं, हां भैंसों को चुराने वाले चार आरोपी जरूर उसके हाथ आ गए। भैंसों का मिलना तो अब नामुमकिन है, क्योंकि आरोपियों ने उन्हें स्लाटर हाउस में काट दिया। अब पुलिस बाकी बचे दो आरोपियों की तलाश में जुटी है।

Newsbeep

बताया जाता है कि 16 मई को बाहरी दिल्ली के अमन विहार इलाके में डेरी चलाने वाले सतीश राम ने पुलिस में शिकायत दी थी कि उनकी 12 भैंसें सुबह करीब 4:30 बजे किसी ने चोरी कर ली हैं। इसके बाद अमन विहार थाने के 6 अफसरों की टीम करीब 20 दिनों तक पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कई इलाकों में भैंसों की तलाश में डेरा डाले रही, लेकिन उनका कोई सुराग नहीं मिल सका।  

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


इसी बीच पुलिस को जानकारी मिली की दिल्ली के नांगलोई इलाके में एक महबूब नाम का शख्स स्लॉटर हाउस चलाता है और इस चोरी में उसी का हाथ है। पुलिस ने महबूब को पकड़कर सख्ती से पूछताछ की ओ उसने अपना गुनाह कबूल कर लिया। उसने बताया कि उसने अपने साथियों नुसरत, इसरार, शहजाद, वसीम और इबरार के साथ मिलकर सभी भैंसों को मौत के घाट उतार दिया है। पुलिस ने इस मामले में महबूब के साथियों नुसरत और इसरार को भी गिरफ्तार कर लिया है। बाकी आरोपियों की तलाश जारी है।