NDTV Khabar

कश्‍मीर में आतंकी हमले में शहीद बिहार के दो जवानों को श्रद्धांजलि देने नहीं पहुंचा नीतीश का कोई मंत्री या BJP का कोई नेता

कश्‍मीर में पिछले दिनों आतंकी हमले में बिहार के दो जवान शहीद हुए. इन जवानों का अंतिम संस्‍कार राजकीय सम्‍मान के साथ किया गया.

112 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
कश्‍मीर में आतंकी हमले में शहीद बिहार के दो जवानों को श्रद्धांजलि देने नहीं पहुंचा नीतीश का कोई मंत्री या BJP का कोई नेता

कश्‍मीर में हुए आतंकी हमले में हाल ही में बिहार के दो जवान शहीद हुए

खास बातें

  1. पुंछ में आतंकी हमले में शहीद हुए थे किशोर कुमार मुन्‍ना
  2. अंतिम संस्‍कार में नजर नहीं आया राज्‍य सरकार का कोई मंत्री
  3. भोजपुर जिले के मुजाहिद ने भी देश की रक्षा में दी शहादत
पटना: कश्‍मीर में पिछले दिनों आतंकी हमले में बिहार के दो जवान शहीद हुए. इन जवानों का अंतिम संस्‍कार पूरे राजकीय सम्‍मान के साथ किया गया. बिहार सरकार की ओर से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जवानों की मौत पर दुःख प्रकट करते हुए पूरे सम्मान के साथ अंत्येष्टि कराने की घोषणा की थी, लेकिन बीजेपी के किसी नेता के इन शहीद जवानों के अंतिम संस्‍कार में नहीं पहुंचने को लेकर लोगों में खासी नाराजगी रही. मंगलवार को राज्य के खगड़ि‍या जिले के ब्रह्मा गांव के किशोर कुमार मुन्ना का राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्‍कार हुआ. जम्मू-कश्मीर के पुंछ में आतंकी हमले के दौरान मुन्‍ना घायल हुए थे. बाद में इलाज के दौरान आर्मी हॉस्पिटल में उनकी मौत हो गई.

यह भी पढ़ें:असदुद्दीन ओवैसी को सेना का जवाब, हम शहीदों को धर्म से नहीं जोड़ते

टिप्पणियां
बिहार के इस सपूत के अंतिम संस्‍कार में जहां हजारों की संख्‍या में लोग पहुंचे थे लेकिन राज्‍य सरकार को कोई मंत्री इस मौके पर नजर नहीं आया. विपक्ष में रहते हुए इसे बड़ा मुद्दा बनाने वाली बीजेपी का कोई भी नेता या मंत्री भी अंतिम संस्‍कार में नहीं पहुंचा. हां, राज्‍य सरकार की ओर से 11 लाख रुपये का चेक जरूर ज़िला अधिकारी ने शहीद जवान के परिजनों को दाह संस्कार के पूर्व दे दिया था.

वीडियो: सीमा पर तनाव, पाक में चुनाव
इसी क्रम में बुधवार को भोजपुर जिले के पीरो में जब मुजाहिद खान का पार्थिव शरीर पहुंचा तो पूरा माहौल गमगीन हो गया. मुजाहिद श्रीनगर में हुए आतंकी हमले में शहीद हुए थे. अंतिम संस्‍कार के दौरान बड़ी संख्‍या में लोग, शहीद जवान के प्रति सम्‍मान जताने के लिए पहुंचे, लेकिन विधायक सुदामा प्रसाद के अलावा बीजेपी का कोई नेता वहां नहीं पहुंचा. यहां तक कि स्थानीय सांसद और केंद्रीय मंत्री राजकुमार सिंह भी श्रद्धांजलि देने नहीं पहुंचे. गौरतलब है कि पूर्व केंद्रीय गृह सचिव रहे राजकुमार सिंह इस समय आरा संसदीय सीट से बीजेपी सांसद हैं. स्थानीय लोगों में सांसदों-विधायकों के नदारद रहने से नाराज़गी नजर आई. सवाल हैं कि राज्य सरकार ने किसी मंत्री को इन अंत्येष्टि में भाग लेने के लिए क्यों पहले से तय नहीं किया?


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement