गब्बर सिंह टैक्स : जेटली ने राहुल की अर्थव्यवस्था पर समझ को लेकर उठाया सवाल

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा- क्या कांग्रेस उपाध्यक्ष नेहरूवादी विरासत से देश को मिले 17 करों एवं 23 अधिभार से संतुष्ट हैं और क्या ऐसी व्यवस्था चाहते हैं?

गब्बर सिंह टैक्स : जेटली ने राहुल की अर्थव्यवस्था पर समझ को लेकर उठाया सवाल

अरुण जेटली ने राहुल गांधी द्वारा जीएसटी को गब्बर सिंह टैक्स कहे जाने पर पलटवार किया है.

खास बातें

  • अरुण जेटली ने जीएसटी पर राहुल के बयान पर किया पलटवार
  • वित्त मंत्री ने कहा- वह (राहुल) कितना जानते हैं और वह कब जानेंगे
  • कहा- मुझे यकीन है कि वह इससे कहीं ज्यादा बेहतर बयान दे सकते थे
नई दिल्ली:

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने जीएसटी को ‘‘गब्बर सिंह टैक्स’’ कहने को लेकर राहुल गांधी पर पलटवार करते हुए शुक्रवार को सवाल किया कि ‘‘वह (राहुल) कितना जानते हैं और वह कब जानेंगे.’’ बीजेपी नेता ने कहा कि क्या कांग्रेस उपाध्यक्ष नेहरूवादी विरासत से देश को मिले 17 करों एवं 23 अधिभार से संतुष्ट हैं और क्या ऐसी व्यवस्था चाहते हैं, जहां देश भर में सामानों का मुक्त व्यापार न हो.

जेटली ने एक टीवी चैनल को दिए गए साक्षात्कार में कहा, ‘‘अगर कोई इसे ‘गब्बर सिंह टैक्स’ कहता है तो फिर मैं इतना ही कह सकता हूं कि उन्हें कितनी जानकारी है और वह कब जानेंगे.’’ उन्होंने कहा कि जब कोई व्यक्ति कुछ काम करता है तो तय है कि उसकी सराहना करने वाले लोगों से उसे प्रशंसा मिलेगी और ‘‘उन लोगों की आलोचना का सामना करना होगा, जो या तो इसे समझते नहीं या जिन्हें सुधारों से नुकसान होता हो.’’

यह भी पढ़ें : जीएसटी, यानी 'गब्बर सिंह टैक्स' वसूलने वाले कहते थे, 'न खाऊंगा, न खाने दूंगा' : गुजरात में गरजे राहुल गांधी

यह पूछे जाने पर कि क्या उनका मलतब है कि राहुल को अर्थव्यवस्था की समझ नहीं है, वित्त मंत्री ने कहा, ‘‘मैंने जिस तरह के बयान देखे हैं, मुझे यकीन है कि वह इससे कहीं ज्यादा बेहतर बयान दे सकते थे.’’ जेटली ने कहा कि राहुल को यह पता है कि सभी कांग्रेसी मुख्यमंत्री जीएसटी परिषद द्वारा किए गए हर फैसले में शामिल हैं.

Newsbeep

VIDEO : जीएसटी पर बयानबाजी

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


उन्होंने कहा, ‘‘क्या वह उन 17 करों एवं अधिभारों से ज्यादा संतुष्ट हैं जो देश को नेहरूवादी विरासत की देन है और यह वह विरासत है, जो वह ढो रहे हैं.’’
(इनपुट भाषा से)