NDTV Khabar

स्वतंत्रता दिवस पर सेना और केंद्रीय बलों के हजारों जवानों को मिलेंगे वीरता पदक, सैपर प्रकाश जाधव मरणोपरांत कीर्ति चक्र से होंगे सम्मानित

जम्मू-कश्मीर में आतंक रोधी अभियान में हिस्सा लेने वाले केंद्रीय सुरक्षा बलों के जवानों को सबसे ज्यादा 180 वीरता पदक मिले हैं. वहीं सेना की ओर से जारी सूची में 90 जवान सेना मेडल से सम्मानित होंगे. 

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
स्वतंत्रता दिवस पर सेना और केंद्रीय बलों के हजारों जवानों को मिलेंगे वीरता पदक, सैपर प्रकाश जाधव मरणोपरांत कीर्ति चक्र से होंगे सम्मानित

भारतीय सेना की ओर से कुल 101 वीरता पदक दिए जाएंगे.

नई दिल्ली:

सरकार ने स्वतंत्रता दिवस पर दिए जाने वाले वीरता पदकों की घोषणा कर दी है. इस बार सेना के कुल 101 जवानों को वीरता पद दिए जाएंगे. वहीं केंद्रीय गृह मंत्रालय ने केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल (सीएपीएफ) और राज्य पुलिस बल के जवानों और अधिकारियों के लिए  कुल 946 पदकों की घोषणा की है. ये पदक स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर दिए जाएंगे. इस बार घोषित किये गए वीरता पदकों में सबसे ज्यादा 180 पदक जम्मू कश्मीर में आतंक रोधी अभियान में हिस्सा लेने वाले केंद्रीय सुरक्षा बलों के जवानों को मिले हैं. इनमें से तीन को बहादुरी के लिए राष्ट्रपति का पुलिस मेडल (पीपीएमजी), जबकि 177 को बहादुरी के लिए पुलिस मेडल (पीएमजी) सम्मान से नवाजा गया है. वहीं सेना की ओर से जारी सूची में 90 जवान सेना मेडल से सम्मानित होंगे. 

प्रकाश जाधव को मरणोपरांत कीर्ति सम्मान
शांतिकाल के दौरान तीसरे सबसे बड़े सैन्य सम्मान-कीर्ति चक्र से सैनिक प्रकाश जाधव को स्वतंत्रता दिवस पर गुरुवार को सम्मानित किया जाएगा. जाधव 2018 में जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों से मुठभेड़ के दौरान शहीद हुए थे। अधिकारियों ने बुधवार को कहा कि जाधव को मरणोपरांत कीर्ति चक्र दिया जाएगा, जो भारतीय सेना के सैपर थे. उन्हें कुलगाम जिले में गोलियां लगी थीं, जिससे वे शहीद हो गए थे। इस मुठभेड़ के दौरान दो आतंकवादी मारे गए थे. 29 वर्षीय जाधव कर्नाटक से थे. 


यह भी पढ़ें: असम में राष्ट्रपति पदक से सम्मानित सेना का पूर्व अधिकारी विदेशी घोषित, हिरासत शिविर में भेजा गया

पांच सैनिकों को मरणोपरांत शौर्य चक्र
आठ सैनिकों को शौर्य चक्र से सम्मानित किया जाएगा. इनमें से पांच पुरस्कार मरणोपरांत दिए जाएंगे. रक्षा मंत्रालय के सूत्रों ने कहा कि पांच मिराज-2000 लड़ाकू विमानों के पायलटों को पुलवामा आतंकवादी हमले के जवाब में पाकिस्तान के बालाकोट में एक आतंकी लॉन्च पैड पर बमबारी करने के लिए वायु सेना पदक से सम्मानित किया जाएगा. 

अभिनंदन वर्तमान को वीर चक्र
आईएएनएस सूत्रों के मुताबित विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान का नाम वीर चक्र के लिए रखा गया है. अभिनंदन ने 27 फरवरी को नियंत्रण रेखा के निकट पाकिस्तानी एफ-16 को मार गिराया था. वीर चक्र तीसरा सबसे बड़ा सैन्य सम्मान है, जो भूमि, समुद्र या वायु में शत्रु की मौजूदगी पर वीरतापूर्ण कार्य के लिए दिया जाता है.

यह भी पढ़े: आतंक की राह छोड़ सेना में हुआ था शामिल, देश के लिए कुर्बान कर दी थी जान, अब मिलेगा अशोक चक्र

टिप्पणियां

केंद्रीय सुरक्षा बलों के 9 जवानों को मरणोपरांत बाहदुरी मेडल
जम्मू कश्मीर में आतंक रोधी ग्रिड में तैनात जवानों के लिए कुल 114 बहादुरी पदक दिए गए हैं, जबकि वामपंथी उग्रवाद प्रभावित राज्यों में तैनात जवानों को ऐसे 62 पदक दिए गए हैं. पूर्वोत्तर के राज्यों में अभियान के लिए चार सुरक्षा कर्मियों को पदक मिले हैं. बयान में कहा गया कि नौ कर्मियों को मरणोपरांत बहादुरी मेडल दिया गया है.

केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल को अधिकतम 72 पदक गए हैं इसके बाद जम्मू कश्मीर पुलिस बल को 61, ओडिशा पुलिस को 23, छत्तीसगढ़ के पुलिसकर्मियों के लिए नौ पदक तथा सीमा सुरक्षा बल एवं भारत-तिब्बत सीमा पुलिस बल को दो-दो पदक मिले हैं. विशिष्ट सेवा के लिए 89 पुलिसकर्मियों को राष्ट्रपति के पुलिस पदक दिए गए हैं जबकि 677 को सराहनीय सेवा के लिए पदक मिले हैं. कुल 56 कर्मियों को दमकल सेवा पदक और 44 अधिकारियों को होमगार्ड और सिविल डिफेंस पदक दिए गए हैं. (इनपुट-एजेंसी)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement