NDTV Khabar

गौरी लंकेश हत्याकांड : गिराफ्तार आरोपी नवीन का नार्को टेस्ट दिल्ली में होगा या अहमदाबाद अभी तय नहीं..

किसी आरोपी से सच उगलवाने के लिए नार्को टेस्ट सुप्रीम कोर्ट के द्वारा तैय मापदंडों के मुताबिक किया जाता है जिसमे इस्थानीय अदालत की इजाज़त ज़रूरी होती है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
गौरी लंकेश हत्याकांड : गिराफ्तार आरोपी नवीन का नार्को टेस्ट दिल्ली में होगा या अहमदाबाद अभी तय नहीं..

के टी नवीन कुमार(फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

गौरी लंकेश हत्याकांड में  अवैध हथियारों के सौदागर के टी नवीन कुमार की हुई गिरफ्तारी के बाद कर्नाटक पुलिस के विशेष जांच दल ने अदालत से उसके नार्को टेस्ट की इजाज़त ले ली है. नार्को टेस्ट के जरिए जांच दल वो जानकारी नवीन से उगलवाना चाहता है जो पुलिस के मुताबिक नवीन अबतक छुपा रहा है. नार्को एनालिसिस टेस्ट के साथ- साथ विशेष जांच दल नवीन का ब्रेन मैपिंग और पॉलीग्राफिक टेस्ट भी करवाने की सोंच रहा है. गुजरात की राजधानी अहमदाबाद में नार्को एनालिसिस टेस्ट तो होता है लेकिन ब्रेन मैपिंग और पॉलीग्राफिक टेस्ट नही होता. ऐसे में सवाल ये उठता है कि क्या नार्को टेस्ट अहमदबाद और बाक़ी दो टेस्ट क्या दिल्ली या हैदराबद में करवाये जाएंगे.

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि 'फिलहाल हम अपने इस्तर पर जानकारी इकट्ठा कर रहे हैं की अदालत के आदेशानुसार टेस्ट कहा करवाया जाए, एक बार टेस्ट सेन्टर तय करने के बाद हम उस सेन्टर से उनकी सुविधानुसार वक़्त लेकर नवीन को वहां ले जाएंगे क्योंकि नवीन इस हत्याकांड का मुख्य भूमिका है'.


यह भी पढ़ें : गौरी लंकेश हत्याकांड मामले में राज्य सरकार युवक को धर्म के आधार पर फंसाने की कर रही है कोशिश : बीजेपी सांसद

किसी आरोपी से सच उगलवाने के लिए नार्को टेस्ट सुप्रीम कोर्ट के द्वारा तैय मापदंडों के मुताबिक किया जाता है जिसमे इस्थानीय अदालत की इजाज़त ज़रूरी होती है. इस टेस्ट में आरोपी को एक खास तरह का इंजेक्शन सरकारी डॉक्टर और वकील की मौजूदगी में दिया जाता है और पुरी प्रक्रिया की ऑडियो वीडियो रेकॉर्डिग की जाती है. नवीन के साथ भी ऐसा ही होगा और जब सारे सवाल जवाब रिकॉर्ड किये जा रहे होंगे तब वो अर्ध चेतन अवस्था मे होगा. पहले ये सभी टेस्ट बेंगलुरु में हुआ करते थे लेकिन कुछ विवादों के बाद 2010 से बेंगलुरु के एफएसएल में ये सभी टेस्ट बंद हो गए. 33 साल का के टी नवीन कुमार को फिलहाल बेंगलुरु की एक अदालत ने 26 मार्च तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया है. अब उसकी पेशी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बेंगलुरु सेंट्रल जेल से सीधे अदालत में होगी.

यह भी पढ़ें : गौरी लंकेश हत्याकांड पर कर्नाटक के गृहमंत्री का दावा- हमें पता है वह कौन है

कर्नाटक के मण्डया का रहने वाला 33 साल के टी नवीन कुमार को 18 फरवरी को सेंट्रल क्राइम ब्रांच की ऑर्गनिस्व्ड क्राइम विंग ने बेंगलुरु के मैजेस्टिक बस स्टैंड से असलाह के साथ पकड़ा था. बाद में गौरी लंकेश हत्याकांड की जांच कर रहे एस आईं टी ने नवीन कुमार को अदालत के आदेश से हिरासत में लिया और तक़रीबन 5 दिनों की पूछताछ के बाद गौरी लंकेश हत्याकांड में  गिरफ्तार कर लिया और इस हत्याकांड में ये पहली गिरफ्तारी है.

टिप्पणियां

VIDEO : गौरी लंकेश हत्या मामले में पहली गिरफ्तारी, हत्यारा पकड़ा गया​

के टी नवीन कुमार पर आरोप है कि उसने न सिर्फ गौरी लंकेश के हत्यारों को असलहा दिया बल्कि ट्रेनिंग भी दी. कहा ये भी जा रहा है कि सीसीटीवी में जो शख्स बाइक पर दिख रहा है उसका हुलिया के टी नवीन कुमार से काफी मिलता है. हालांकि अबतक एसआईटी ने इन खबरों की आधिकारिक तौर पर पुष्टि नही की है. वामपंथी विचारक और लंकेश पत्रिका की सम्पादक गौरी लंकेश की हत्या 5 सितंबर को बेंगलुरु के राजा राजेश्वरी नगर के उनके घर पर 2 बाइक सवार युवकों  ने गोली मार कर कर दी थी. इस हत्याकांड के लिए ज़िम्मेदार अपराधियों को पकड़वाने पर 10 लाख रुपए के इनाम की घोषणा सरकार ने की है.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement