NDTV Khabar

गौरी लंकेश के हत्यारों का सुराग देने वाले को 10 लाख रुपये इनाम

वरिष्ठ पत्रकार गौरी लंकेश जांच में एसआईटी को अभी तक कोई सुराग नहीं मिल पाया है.

618 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
गौरी लंकेश के हत्यारों का सुराग देने वाले को 10 लाख रुपये इनाम

एसआईटी ने फरार संदिग्ध हत्यारों के बारे में जानकारी मुहैया कराने के लिए आम जनता से मदद मांगी है...

बेंगलुरू: कर्नाटक सरकार ने शुक्रवार को पत्रकार और सामाजिक कार्यकर्ता गौरी लंकेश के हत्यारों के बारे में जानकारी देने वाले को 10 लाख रुपये इनाम देने की घोषणा की है. लंकेश की हत्या मंगलवार को उनके घर के सामने ही कर दी गई थी. राज्य के गृहमंत्री रामालिंगा रेड्डी ने संवाददाताओं को बताया,"सरकार ने निर्णय लिया है कि जो भी लंकेश के हत्यारों के बारे में जानकारी देगा या कोई सुराग देगा, उसे 10 लाख रुपये इनाम दिया जाएगा."

यह निर्णय मुख्यमंत्री सिद्धारमैया की अध्यक्षता में दिन में हुई एक विशेष बैठक में लिया गया, जिसमें रेड्डी, गृह विभाग के अधिकारी और विशेष जांच दल (एसआईटी) ने हिस्सा लिया. विशेष जांच दल का गठन गौरी लंकेश की हत्या की जांच के लिए किया गया है.

पढ़ें: बीजेपी विधायक का सनसनीखेज बयान, गौरी लंकेश ने RSS के खिलाफ न लिखा होता तो वह जिंदा होतीं

पुलिस महानिरीक्षक बीके सिंह की अध्यक्षता में बुधवार को 21 सदस्यीय एसआईटी का गठन किया गया था, जिसमें शहर के पुलिस उपायुक्त (पश्चिम) एम.एन. अनुचेथ को मुख्य जांच अधिकारी बनाया गया है.

पढ़ें: गौरी लंकेश हत्‍या: जावेद अख्‍तर ने कहा, 'अगर कुछ तरह के ही लोग मर रहे हैं तो कौन मार रहा है...'

जांच में अभी तक कोई सुराग नहीं मिल पाया है. ऐसे में एसआईटी ने घटना को अंजाम देने के बाद एक मोटर बाइक से फरार हुए संदिग्ध हत्यारों के बारे में जानकारी मुहैया कराने के लिए आम जनता से मदद मांगी है.

VIDEO : क्या गौरी लंकेश संघ की आलोचना का शिकार हुईं?


गौरतलब है कि बेंगलुरु में वरिष्ठ पत्रकार गौरी लंकेश को 5 सितंबर दो हमलावरों ने 8 बजे के करीब उनके घर में घुसकर उन्हें गोलियां मार दी थी. हत्यारों ने 7 राउंड गोलियां चलाईं थी, गौरी को तीन गोलियां लगी और मौक़े पर ही उनकी मौत हो गई थी. 'गौरी लंकेश पत्रिके' की संपादक गौरी हित्दुत्व की राजनीति की मुखर आलोचक थीं.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement