Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

गुरुग्राम में मुस्लिम युवक पर हमले की गौतम गंभीर ने की निंदा तो BJP नेता बोले- मासूमियत में दिया बयान

क्रिकेटर से राजनेता बने गौतम गंभीर ने लोकसभा चुनाव में पूर्वी दिल्ली से जीत दर्ज है. उन्होंने अपने ट्वीट में इस घटना को 'अपमानजनक' करार दिया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
गुरुग्राम में मुस्लिम युवक पर हमले की गौतम गंभीर ने की निंदा तो BJP नेता बोले- मासूमियत में दिया बयान

पूर्वी दिल्ली से नवनिर्वाचित भाजपा सांसद गौतम गंभीर

नई दिल्ली:

दिल्ली से सटे गुरुग्राम में कुछ युवकों द्वारा 'जय श्रीराम' का नारा न लगाने पर कथित तौर पर एक मुस्लिम युवक की पिटाई के मामले की भाजाप के नवनिर्वाचित सांसद गौतम गंभीर ने निंदा की थी. क्रिकेटर से राजनेता बने गौतम गंभीर ने लोकसभा चुनाव में पूर्वी दिल्ली से जीत दर्ज है. उन्होंने अपने ट्वीट में इस घटना को 'अपमानजनक' करार दिया. वहीं भाजपा नेताओं ने गौतम गंभीर के ट्वीट पर कहा कि उनका बयान मासूमियत में दिया गया है. इसके साथ ही पार्टी के एक वर्ग ने उनके ट्वीट पर निराशा जाहिर करते हुए कहा कि युवा नेता के शब्दों का इस्तेमाल भाजपा के खिलाफ किया जा सकता है. 

गौतम गंभीर के ट्वीट के बाद दिल्ली भाजपा प्रमुख मनोज तिवारी ने भी इस घटना की निंदा की है. इसके साथ ही गौतम गंभीर के ट्वीट को लेकर उन्होंने कहा कि लोगों को इस तरह की घटनाओं पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते समय सतर्क रहना चाहिए. उन्होंने कहा कि कुछ लोगों ने एक साजिश के तहत अफवाहें फैलाने और मुस्लिमों में भय की भावना पैदा करने के लिए ऐसी घटनाओं को अंजाम दिया है. तिवारी ने अपने बयान में कहा, 'लोगों को सतर्क रहने की जरूरत है ताकि वे इस तरह की अफवाहों से गुमराह न हों. पूर्वी दिल्ली के सांसद गौतम गंभीर ने इस मामले पर मासूमियत के साथ प्रतिक्रिया दी है.'


BSP विधायक का दावा: BJP ने दिया मंत्री पद और 50-60 करोड़ रुपये का ऑफर

तिवारी के बाद दिल्ली बीजेपी के एक वरिष्ठ नेता ने कहा, 'गंभीर अब एक क्रिकेटर नहीं हैं और उन्हें महसूस करना चाहिए कि उनके शब्दों और कार्यों को राजनीति के चश्मे से देखा जाएगा.' उन्होंने कहा, "ऐसी घटनाओं को कोई भी पसंद नहीं करता है, लेकिन हरियाणा की एक घटना पर टिप्पणी करने का क्या फायदा है, जो भाजपा के खिलाफ अन्य दलों द्वारा इस्तेमाल की जा सकती है.' गौतम गंभीर के इस ट्वीट के बाद सोशल मीडिया पर बहुत से लोगों ने उन्हें जवाब दिया और कहा कि उन्हें कुछ सेलेक्टिव केसों को ही उजागर नहीं करना चाहिए. 

टिप्पणियां

गुड़गांव में घटी घटना के पीड़ित 25 साल के मोहम्मद बरकत आलम ने कहा कि वह शनिवार की शाम नमाज से लौट रहे थे, जब उन्हें चार से पांच लोगों के एक गिरोह ने घेर लिया. उनमें से एक ने उसके सिर पर चाकू से वार किया और "जय श्री राम" का नारा लगाने को कहा. मैंने नारे लगाने से इंकार किया तो उन लोगों ने मारपीट शुरू कर दी.

गंभीर ने एक अन्य ट्वीट में कहा 'प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 'सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास' के दर्शन से धर्मनिरपेक्षता में उनका विश्वास बढ़ा है.  और जाति और धर्म के आधार पर कोई भी उत्पीड़न घृणित है'. गुड़गांव पुलिस ने केस दर्ज लिया है. पुलिस अपराधियों की पहचान करने के लिए सीसीटीवी फुटेज भी ले रही है. हालांकि अभी तक किसी को गिरफ्तार नहीं किया गया है.
 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... सनी लियोन की मेकअप के दौरान निकल गई चमड़ी, Video देख आप भी हो जाएंगे हैरान

Advertisement