गाजियाबाद पत्रकार हत्या केस: 9 आरोपी हथियारों समेत गिरफ्तार, सरकार ने मानी परिवार की मांग

दिल्ली से सटे गाज़ियाबाद में सोमवार की रात बदमाशों ने एक पत्रकार पर गोली मारी थी, क्योंकि उसने 16 जुलाई को भांजी के साथ हुई छेड़छाड़ की शिकायत की थी. बुधवार की सुबह घायल पत्रकार ने अस्पताल में दम तोड़ दिया.

गाजियाबाद:

दिल्ली से सटे गाज़ियाबाद में सोमवार की रात बदमाशों ने एक पत्रकार पर गोली मारी थी, क्योंकि उसने 16 जुलाई को भांजी के साथ हुई छेड़छाड़ की शिकायत की थी. बुधवार की सुबह घायल पत्रकार ने अस्पताल में दम तोड़ दिया. पत्रकार विक्रम जोशी पर गोली चलाए जाने के मामले में मंगलवार तक पुलिस ने नौ आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया था. वहीं, चौकी इंचार्ज समेत दो पुलिस कर्मियों को लापरवाही बरतने पर सस्पेंड भी कर दिया गया है. घटना के बाद परिवार वालों ने पत्रकार का शव लेने से इनकार कर दिया था. इस मामले में गाजियाबाद की एएसपी कालनिधि नैतनी ने कहा कि मुख्य आरोपी रवि और छोटू समेत 9 लोगों गिरफ्तार कर लिया गया है. उनके कब्जे से एक अवैध हथियार भी बरामद किया गया है. न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक जिलाधिकारी ने बताया है कि धरने पर बैठे लोगों की बात मानते हुए राज्य सरकार ने 10 लाख की आर्थिक सहायता, पत्नी को नौकरी, बच्चों को निःशुल्क शिक्षा देने का आश्वासन दिया है. फिलहाल धरना खत्म हो गया है. 

गाजियाबाद के पत्रकार विक्रम जोशी की मौत के बाद आम लोगों में खासा गुस्सा है. परिवार ने फिलहाल पोस्टमार्टम कराने से इंकार कर दिया था और अस्पताल के सामने धरने पर बैठ गए थे. परिवार वालों की मांग है कि एक सदस्य को नौकरी दी जाए और परिवार को सुरक्षा. फिलहाल जिलाधिकारी द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार सरकार ने उनकी बातें मान ली और धरना खत्म कर दिया गया.

दरअसल, गाज़ियाबाद में पत्रकार ने अपनी भांजी के छेड़ने की तहरीर पुलिस को दी थी. पुलिस ने ना उसमें कार्रवाई की और ना ही किसी की गिरफ्तारी की. इसके बाद तहरीर देने से नाराज़ बदमाशों ने सोमवार की देर रात पत्रकार को गोली मार दी. थाना विजयनगर क्षेत्र के अंतर्गत हुई घटना के संबंध में एसपी सिटी ने बताया  कि इस घटना के मुख्य आरोपी रवि सहित अन्य को गिरफ्तार किया गया है.

Newsbeep

बताते चले कि घटना की एक सीसीटीवी फुटेज सामने आई है, जिसमें देखा जा सकता है कि पांच-छह बदमाश जोशी को घेरकर मार रहे हैं, तभी एक दूसरा अपराधी आता है, और उनके सिर में बिल्कुल करीब से गोली मार देता है. गोली लगने के बाद जोशी जमीन पर गिर जाते हैं और बदमाश भाग जाते हैं. जिसके तुरंत बाद उनकी बेटी पास में आती है और घबराई हुई मदद के लिए चिल्लाती है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


विक्रम जोशी का कसूर बस इतना था कि उनकी भांजी को लगातार छेड़ा जा रहा था और उन्होंने उन बदमाशों के खिलाफ थाने में शिकायत दी थी. तहरीर देने से नाराज बदमाशों ने सोमवार रात विक्रम को गोली मार दी. विक्रम के सिर में गोली लगी, वह गंभीर हालत में यशोदा अस्पताल में भर्ती थे. हालांकि पुलिस का कहना है कि जो भी होगा आरोपी होगा उस पर कार्रवाई की जाएगी. परिजनों का भी कहना है कि अगर विक्रम की तहरीर पर कार्रवाई होती तो आज यह घटना ना होती. विक्रम की भांजी को लगातार छेड़ा जा रहा था और उसके बावजूद पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की.