NDTV Khabar

गिरिराज सिंह ने किया ट्वीट- श्यामाप्रसाद मुखर्जी और डॉ. हेडगेवार ऊपर से मोदीजी को आशीर्वाद दे रहे होंगे, वक्त है अब...

नागरिकता संशोधन बिल (Citizenship Amendment Bill) राज्यसभा में बुधवार को पास हो चुका है. जिसके बाद कई नेताओं ने अपने-अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बधाई दिया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
गिरिराज सिंह ने किया ट्वीट- श्यामाप्रसाद मुखर्जी और डॉ. हेडगेवार ऊपर से मोदीजी को आशीर्वाद दे रहे होंगे, वक्त है अब...

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह (Giriraj Singh)- फाइल फोटो

खास बातें

  1. गिरिराज सिंह ने किया ट्वीट
  2. नागरिकता बिल राज्यसभा में पास होने पर जताई खुशी
  3. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को इस तरह से दी बधाई
नई दिल्ली:

नागरिकता संशोधन बिल (Citizenship Amendment Bill) राज्यसभा में बुधवार को पास हो चुका है. जिसके बाद कई नेताओं ने अपने-अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बधाई दिया. केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर एक ट्वीट किया और लिखा, ''सर्जिकल स्ट्राइक, एयर स्ट्राइक, अयोध्या राम मंदिर, आर्टिकल 370 का जाना, लद्दाख का नया यूनियन टेरिटरी बनना एवं CAB बिल पास होना. आज श्यामाप्रसाद मुखर्जी एवं डॉ. हेडगेवार ऊपर से मोदी जी को आशीर्वाद दे रहे होंगे. वक्त है अब जनसंख्या नियंत्रण कानून की तरफ कदम बढ़ने का.''

CAB के बहाने गिरिराज सिंह का कांग्रेस पर हमला, कहा - देश विभाजन के लिए नेहरू और कांग्रेस...


गिरिराज सिंह ने लोकसभा में नागरिकता संशोधन बिल पास होने के बाद कांग्रेस पर हमला किया था. गिरिराज सिंह ने लिखा था, "कांग्रेस/नेहरू और जिन्ना ने 1947 में धर्म के आधार पर देश का बंटवारा किया, आज वहां ना उनका पूजा स्थल सुरक्षित है और ना ही उनकी बहू बेटी. आज मोदी जी-शाह जी जोड़ी ने पाकिस्तान अफगानिस्तान और बांग्लादेश में प्रताड़ित हो रहे अल्पसंख्यक का दर्द समझा और उन्हें आश्रय देने का फैसला किया." 

महाराष्‍ट्र में जारी सियासी बवाल पर बोले गिरिराज सिंह, 'बालासाहब ने कहा था, संख्याबल वाली पार्टी को मिले मुख्यमंत्री पद'

टिप्पणियां

गौरतलब है कि लोकसभा में सोमवार को लोकसभा में विपक्षी सदस्यों के भारी विरोध के बीच गृह मंत्री अमित शाह ने नागरिकता संशोधन विधेयक पेश किया. लोकसभा में विधेयक को पेश किये जाने के लिए विपक्ष की मांग पर मतदान करवाया गया और सदन ने 82 के मुकाबले 293 मतों से इस विधेयक को पेश करने की स्वीकृति दे दी. कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस सहित विपक्षी सदस्यों ने विधेयक को संविधान के मूल भावना एवं अनुच्छेद 14 का उल्लंघन बताते हुए इसे वापस लेने की मांग की.

VIDEO: केसों का उदाहरण देकर असदुद्दीन ओवैसी ने किया CAB का विरोध



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें. India News की ज्यादा जानकारी के लिए Hindi News App डाउनलोड करें और हमें Google समाचार पर फॉलो करें


 Share
(यह भी पढ़ें)... अमेजन CEO जेफ बेजोस के मोबाइल फोन को सऊदी क्राउन प्रिंस ने किया था हैक, जानें पूरा मामला

Advertisement