गिरीश चंद्र मुर्मू बने देश के नए CAG, गांधी-आंबेडकर को नमन कर संभाला पदभार

जेएंडके उपराज्यपाल पद से जीसी मूर्म के इस्तीफे के बाद मनोज सिन्हा को जम्मू-कश्मीर का नया लेफ्टिनेंट गर्वनर नियुक्त किया गया. मनोज सिन्हा मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में रेल राज्यमंत्री रह चुके हैं.

गिरीश चंद्र मुर्मू बने देश के नए CAG, गांधी-आंबेडकर को नमन कर संभाला पदभार

जीसी मुर्मू ने भारत के नए सीएजी के तौर संभाला कार्यभार

नई दिल्ली:

जम्मू कश्मीर के पहले उपराज्यपाल पद से इस्तीफा देने वाले गिरीश चंद्र मुर्मू (GC Murmu) ने शनिवार को भारत के नए नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (CAG ) के तौर पर कार्यभार संभाल लिया. इस अवसर उन्होंने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी और संविधान निर्माता भीम राव अंबेडकर को नमन किया. मूल रूप से ओडिशा के रहने वाले गिरीश चंद्र मुर्मू (Girish Chandra Murmu) 1985 बैच के भारतीय प्रशासनिक सेवा (IAS) के अधिकारी हैं. नवंबर 1959 को जन्मे मुर्मू ने पॉलिटिकल साइंस में परास्नातक के साथ एमबीए भी किया है. बर्मिंघम यूनिवर्सिटी के छात्र रह चुके जीसी मुर्मू को तेज-तर्रार अफसर माना जाता है.

मुर्मू की सीएजी के तौर पर नियुक्ति से पहले NDTV को सूत्रों से जानकारी मिली थी कि मुर्मू को देश के नए कैग के पद के लिए नियुक्त किया जा रहा है. दरअसल, नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक का पद जल्द ही खाली हो रहा था क्योंकि मौजूदा ऑडिटर राजीव महर्षि 65 वर्ष के हो गए थे. नियंत्रक और महालेखा परीक्षक एक संवैधानिक पद है और इसे खाली नहीं छोड़ा जा सकता है. इसलिए जम्मू कश्मीर का उपराज्यपाल पद संभाल रहे जीसी मुर्मू को वहां से बुलाकर अब सीएजी की नई जिम्मेदारी सौंपी गई है. 

जीसी मूर्म के इस्तीफे के बाद मनोज सिन्हा को जम्मू-कश्मीर का नया लेफ्टिनेंट गर्वनर नियुक्त किया गया है. मनोज सिन्हा मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में रेल राज्यमंत्री रह चुके हैं.

पीएम मोदी के विश्वासपात्र हैं मुर्मू
मुर्मू पीएम मोदी के साथ भी काम कर चुके हैं. जब नरेंद्र मोदी गुजरात के सीएम तब गिरीश चंद्र मुर्मू (GC Murmu) उनके प्रमुख सचिव थे. मुर्मू को पीएम मोदी का करीबी विश्वासपात्र माना जाता है.  

मनोज सिन्हा बनाए गए जम्मू-कश्मीर के नए उपराज्यपाल
Newsbeep

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com