बेरोजगारी पर बोले गोवा के सीएम, भगवान भी आ जाएं शासन करने तो भी सरकारी नौकरी...

गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने शनिवार को कहा कि यदि भगवान भी राज्य में शासन के लिए आ जाएं तो भी वह प्रत्येक नागरिक को सरकारी क्षेत्र में नौकरी नहीं दे सकेंगे.

बेरोजगारी पर बोले गोवा के सीएम, भगवान भी आ जाएं शासन करने तो भी सरकारी नौकरी...

गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत (फाइल फोटो)

पणजी:

गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने शनिवार को कहा कि यदि भगवान भी राज्य में शासन के लिए आ जाएं तो भी वह प्रत्येक नागरिक को सरकारी क्षेत्र में नौकरी नहीं दे सकेंगे. सावंत ने राज्य द्वारा आयोजित रोजगार मेले के उद्घाटन में कहा कि सरकार पांच से छह हजार लोगों को सरकारी विभागों में रख सकती है. उन्होंने कहा, 'यदि कल भगवान आ जायें और राज्य में शासन करें तो भी वह लोगों को 100 प्रतिशत सरकारी नौकरी नहीं दे पाएंगे.' मुख्यमंत्री ने कहा, 'मेरे पास कई लोग सरकारी नौकरी के लिए आते हैं. यद्यपि हर नागरिक को सरकारी क्षेत्र में समायोजित करना असंभव है.' 

यूपी सरकार ने हटाए 25 हजार होमगार्ड तो मायावती बोलीं- सरकार बेरोजगारी क्यों बढ़ा रही है

उन्होंने बताया कि वर्तमान समय में सरकारी क्षेत्र में 55 से 60 हजार कर्मचारी स्थायी तौर पर कार्यरत हैं जबकि 10 हजार संविदा या अंशकालिक कर्मचारी हैं. उन्होंने कहा कि सरकार ने गोवा कर्मचारी चयन आयोग विधेयक पहले ही पारित कर दिया है जिसके तहत सरकारी विभागों के लिए लोगों की भर्ती करने के लिए एक आयोग का गठन किया जाएगा. इस बीच सावंत ने राज्य के सरकारी कर्मचारियों को चेतावनी देते हुए कहा कि समय से कार्यालय आयें नहीं तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. 

'एक दिन में करोड़ों कमा रहीं फिल्में तो फिर कैसी मंदी', इस बयान को केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने वापस लिया

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

उन्होंने कहा कि विभाग प्रमुखों को निर्देश दिये गए हैं कि उन सभी कर्मचारियों को नोटिस जारी किये जाएं जो नियमित तौर पर ड्यूटी पर देर से आते हैं और अपने कार्य के प्रति समर्पित नहीं हैं. 

Video: जीडीपी के आंकड़ों पर क्‍या कहते हैं सांख्‍य‍िकी सचिव प्रवीण श्रीवास्‍तव