गोवा: COVID-19 मरीजों की रिपोर्ट लीक करने वालों के खिलाफ होगी सख्त कार्रवाई

COVID-19 के सात मरीजों की गोपनीय रिपोर्ट कथित तौर पर सोशल मीडिया में लीक होने की खबर सामने आने के बाद गोवा के स्वास्थ्य मंत्री विश्वजीत राणे ने ऐसा करने वालों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई करने की चेतावनी गुरुवार को दी.

गोवा: COVID-19 मरीजों की रिपोर्ट लीक करने वालों के खिलाफ होगी सख्त कार्रवाई

प्रतीकात्मक तस्वीर

खास बातें

  • गोपनीय रिपोर्ट कथित तौर पर सोशल मीडिया पर हो गई थी लीक
  • स्वास्थ्य मंत्री विश्वजीत राणे ने ऐसा करने वालों को चेतावनी दी
  • गुरुवार को कम से कम सात लोगों में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई
पणजी:

COVID-19 के सात मरीजों की गोपनीय रिपोर्ट कथित तौर पर सोशल मीडिया में लीक होने की खबर सामने आने के बाद गोवा के स्वास्थ्य मंत्री विश्वजीत राणे ने ऐसा करने वालों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई करने की चेतावनी गुरुवार को दी. गोवा में गुरुवार को कम से कम सात लोगों में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई. गोवा मेडिकल कालेज एवं अस्पताल की विषाणु विज्ञान प्रयोगशाला में उनके नमूनों की जांच की गई थी. प्रयोगशाला की रिपोर्ट की कई फोटो कथित तौर पर सोशल मीडिया में पोस्ट की गई जिनमें मरीजों के नाम लिखे थे. 

राणे ने ट्वीट किया, 'जीएमसी और डीएचएस प्रयोगशाला की गोपनीय रिपोर्टें व्हाट्सएप्प और सोशल मीडिया पर फैलाई जा रही हैं. यह मरीज की निजता का उल्लंघन है और मैं आप सभी से अनुरोध करता हूं कि ऐसी सूचना लीक या साझा न करें.' मंत्री ने आगाह किया कि ऐसा करने वालों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

इससे पहले गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने बुधवार को कहा कि विशेष ट्रेनों और विमानों से राज्य में आने वाले लोगों को 14 दिनों के लिए पृथक-वास में रहना होगा. यह बात गैर-गोवा निवासियों पर भी लागू होगी. सावंत ने कहा कि 15 मई से विशेष ट्रेनों द्वारा राज्य में आने वाले सभी यात्रियों को अपने पृथक-वास की व्यवस्था करनी होगी. जो लोग विमानों से आ रहे हैं उन्हें भी यह व्यवस्था करनी होगी.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com