NDTV Khabar

अक्षय तृतीया 2019: जौहरियों से आई बढ़ी मांग को देखते हुए सोने के भाव में आई तेजी

अक्षय तृतीया (Akshaya Tritiya) या अखा तीज (Akha Teej) हिन्‍दुओं का खास पर्व है और इस दिन सोना या सोने से बने आभूषणों को खरीदने की परंपरा है. मान्‍यता है कि इस दिन सोना खरीदने से शुभ लाभ प्राप्‍त होता है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
अक्षय तृतीया 2019: जौहरियों से आई बढ़ी मांग को देखते हुए सोने के भाव में आई तेजी

अक्षय तृतीया से पहले बढ़े सोने के दाम

नई दिल्ली:

अक्षय तृतीया 2019 (Akshaya Tritiya) के मौके पर जौहरियों की ताजा लिवाली से सोने का वायदा भाव सोमवार को 75 रुपये की तेजी के साथ 32,720 रुपये प्रति 10 ग्राम पर पहुंच गया. हालांकि औद्योगिक इकाइयों व सिक्का विनिर्माताओं के कम उठाव से चांदी की कीमत 70 रुपये टूटकर 38,130 रुपये किलो पर आ गई. कारोबारियों के अनुसार वैश्विक स्तर पर सकारात्मक रुख व स्थानीय जौहरियों की मांग से भी मूल्यवान धातु के भाव में तेजी आई. इसके अलावा अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की चीनी वस्तुओं पर उच्च दर से शुल्क लगाने की घोषणा के बाद दोनों देशों के बीच व्यापार युद्ध बढ़ने की आशंका से सुरक्षित निवेश के रूप में मूल्यवान धातु की मांग बढ़ी है. वैश्विक स्तर पर न्यूयार्क में हाजिर बाजार में सोना मजबूत होकर 1,282.60 डालर प्रति औंस रहा जबकि चांदी का भाव कमजोर होकर 14.91 डालर प्रति औंस रहा.

Akshaya Tritiya 2019: 7 मई को है अक्षय तृतीया, जानिए शुभ मुहूर्त, पूजा विधि, महत्‍व और कथा


शनिवार को पीली धातु 175 रुपये चढ़कर 32,645 रुपये प्रति 10 ग्राम पर आ गया. राष्ट्रीय राजधानी में 99.9 प्रतिशत तथा 99.5 प्रतिशत शुद्धता वाला सोना क्रमश: 75-75 रुपये मजबूत होकर 32,720 और 32,550 रुपये प्रति 10 ग्राम पर आ गया. वहीं गिन्नी का भाव 26,400 रुपये प्रति आठ ग्राम पर स्थिर रहा. चांदी तैयार की कीमत 70 रुपये टूटकर 38,130 रुपये किलो व साप्ताहिक आधार पर डिलिवरी के लिये 313 रुपये मजबूत होकर 37,290 रुपये किलो पर पहुंच गयी. इस बीच, चांदी सिक्के की मांग में तेजी रही. इससे चांदी सिक्के का भाव लिवाल 1,000 रुपये मजबूत होकर 79,000 रुपये व बिकवाल 80,000 रुपये प्रति 100 इकाई पर रहा. गौरतलब है कि अक्षय तृतीया के मौके पर सोने की होने वाली खरीददारी को लेकर कुछ बातों को खयाल रखना होगा. 

Akshaya Tritiya 2019: WhatsApp और Facebook पर इन मैसेजेस से दें अक्षय तृतीया की बधाई

अक्षय तृतीया (Akshaya Tritiya) या अखा तीज (Akha Teej) हिन्‍दुओं का खास पर्व है और इस दिन सोना या सोने से बने आभूषणों को खरीदने की परंपरा है. मान्‍यता है कि इस दिन सोना खरीदने से शुभ लाभ प्राप्‍त होता है. ऐसा कहा जाता है कि अक्षय तृतीया के द‍िन सौभाग्‍य और शुभ फल का कभी क्षय नहीं होता. यानी कि इस दिन जो भी काम किया जाए उसका फल कई गुना मिलता है और वह कभी घटता भी नहीं है. यही वजह है कि माना जाता है कि अगर इस दिन सोना खरीदरकर घर लाया जाए तो उससे घर का भाग्‍य बढ़ता है. इस दिन दीपावली की तरह धन की देवी मां लक्ष्‍मी की पूजा की जाती है. मान्‍यता है कि इस दिन सोना खरीदने से घर पर हमेशा माता लक्ष्‍मी वास करती हैं.

यह भी पढ़ें: 7 मई को है अक्षय तृतीया, जानिए शुभ मुहूर्त, पूजा विधि, महत्‍व और कथा

अक्षय तृतीया (Akshaya Teej) के मौके पर सोने की मांग बेहद ज्‍यादा रहती है, जिस वजह से उसके दाम भी इन दिनों आसमान छू रहे होते हैं. ऐसे में ग्राहक का जागरुक होना बेहद जरूरी है. उन्‍हें यह पता होना चाहिए कि वे जो सोना खरीद रहे हैं वो असली है या नकली. भले ही भारतीय समाज में ज्यादातर मौकों पर सोना खरीदने का रिवाज है लेकिन इसके बावजूद अधिकतर लोग आज भी सोना नहीं पहचानते हैं. सरकार ने बेशक हॉलमार्क के विज्ञापनों के जरिए लोगों को थोड़ा जागरुक करने की कोशिश की हो, लेकिन बावजूद उसके कुछ लोग पैसे बचाने के चक्कर में सुनारों के झांसे में आ जाते हैं और नकली सोना ले बैठते हैं. इसीलिए अपनी हजारों की कमाई को नकली सोने में बहाने के बजाय नीचे दिए टिप्स को पढ़ें और अपने सोने को अच्छे से परखें कि वो असली है या नकली.

यह भी पढ़ें: अक्षय तृतीया: साल में सिर्फ एक बार होते हैं वृन्‍दावन के बांके बिहारी के चरण दर्शन

1. चुंबक टेस्ट
इसके लिए हार्डवेयर की दुकान से चुंबक लें और इससे सोने की जूलरी पर लगाएं. अगर यह चिपकता है तो आपका सोना असली नहीं है और अगर नहीं चिपकता तो यह असली है. क्योंकि सोना चुम्बकीय धातु नहीं है. 

2. सिरामिक थाली 
इस टेस्ट के लिए एक सफेद सिरामिक थाली लें. अगर ना हो तो बाजार से ले आएं. अब सोने की जूलरी या सोने को उस प्लेट पर घिसे. अगर इस थाली पर काले निशान पड़ें तो आपको सोना नकली है और अगर हल्के सुनहरे रंग के पड़े तो आपका सोना असली है.

3. पानी टेस्ट
एक और सबसे आसान तरीका है पानी टेस्ट. इसके लिए एक गहरे बर्तन में 2 गिलास पानी डालें और सोने की जूलरी इस पानी में डाल दें. अगर आपका सोना तैरता है तो वो असली नही है. वहीं, आपकी जूलरी डूब कर सतह पर बैठ जाए तो असली है. 

टिप्पणियां

4. दांतों का टेस्ट
इन सबके अलावा एक और तरीका यह है कि सोने को अपने दांतों के बीच कुछ देर दबा कर रखें. अगर आपका सोना असली होगा तो इस पर आपके दांतों के निशान दिखाई देंगे. क्योंकि सोना एक बहुत ही नाजुक धातु है. जूलरी भी प्योर 24 कैरेट सोने की नहीं बनती बल्कि इसमें कुछ मात्रा अन्य धातु मिलाई जाती है. इस टेस्ट को आराम से करें, ज्यादा तेज सोना दबाने से वह टूट सकता है. 

5. पसीना टेस्ट
आपने महसूस किया होगा कि जब भी एक या दो या फिर 5 रुपये के सिक्के पसीने में भीग जाएं तो अजीब स्मेल करते हैं. लेकिन सोने से पसीने की वो सिक्के वाली बदबू नहीं आती.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement