Khabar logo, NDTV Khabar, NDTV India

केजरीवाल का मोदी को जवाब : हम शासन में अच्छे हैं और धरने में भी

ईमेल करें
टिप्पणियां

close

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर उनकी 'अराजकतावादी' टिप्पणी को लेकर पलटवार करते हुए आप नेता अरविंद केजरीवाल ने आज कहा कि भाजपा दिल्ली विधानसभा चुनाव से पहले नर्वस हो गई है और वह व्यक्तिगत हमले करने पर उतर आई है, क्योंकि उसके पास कोई सकारात्मक एजेंडा नहीं है।

भाजपा पर उनके खिलाफ 'व्यक्तिगत' टिप्पणी करने के लिए हमला बोलते हुए केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में भगवा पार्टी बिना कप्तान वाले जहाज की तरह है, जिसके पास इस चुनाव में कोई सकारात्मक एजेंडा नहीं रह गया है। आप नेता ने कहा कि वह भाजपा द्वारा की गई निजी टिप्प्णी पर प्रतिक्रिया देने से परहेज करेंगे।

अपने कार्यकाल की उपलब्धियों को उजागर करते हुए दिल्ली के पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि रैली में सभी भाजपा नेताओं ने उन पर हमला किया, लेकिन किसी ने भी 49 दिन की उनकी सरकार के काम के बारे में आलोचना नहीं की। भगवा पार्टी ने खुद ही उनके अच्छे काम को प्रमाणपत्र दे दिया।

केजरीवाल ने कहा, 'वे कहते हैं कि हमें शासन नहीं आता। ऐसी बात है तो किसने बिजली दरें घटायी और लोगों को मुफ्त पानी दिया। बिजली कंपनियों का आडिट कराने का किसने आदेश दिया। क्या 2जी और कोयला घोटाले में शामिल लोग शासन जानते हैं।'

केजरीवाल ने जल्दबाजी में बुलाये गये संवाददाता सम्मेलन में कहा, 'हम शासन जानते हैं और हम यह भी जानते हैं कि धरना कैसे दिया जाता है।' आप नेता ने कहा कि उस रामलीला मैदान में उनका इस तरह से उपहास किया जाना उचित नहीं है, जहां अन्ना आंदोलन के तहत भ्रष्टाचार के खिलाफ देश का सबसे बड़ा प्रदर्शन हुआ था।

उन्होंने 24 घंटे मुफ्त बिजली दिलवाने के प्रधानमंत्री मोदी के आश्वासन को निशाने पर लेते हुए कहा कि भाजपा पिछले विधानसभा एवं लोकसभा चुनाव में किये गये वादों को पूरा करने में कामयाब नहीं हो पायी है और वह फिर से नये वादे कर रही है।

केजरीवाल ने दावा किया कि बिजली दरों एवं भ्रष्टाचार को कम करने के लिए केवल आम आदमी पार्टी के पास फार्मूला है। केवल हम ही कर सकते हैं।

आप नेता ने कहा, 'हर चुनाव में वह एक नया वादा लेकर आते हैं। मोदी ने कहा कि शीर्ष से भ्रष्टाचार दूर करने में सात माह लग गये। लेकिन आप (मोदी) कब नीचे आएंगे। पहले, आपको यह जानना चाहिए। अगर आप नहीं जानते तो हमसे कहिए। हमने इसे 49 दिनों में किया। लेकिन उसके लिए आपमें भ्रष्टाचार से लड़ने की अच्छी मंशा होनी चाहिए।'


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement

 
 

Advertisement