NDTV Khabar

त्योहार पर घर जाना है तो टेंशन क्यों लेते हो, 4000 स्पेशल ट्रेनें, सुरक्षा से लेकर खाने-पाने तक की व्यवस्था

बैठक के दौरान सिन्हा को 20 सितंबर से 30 अक्टूबर के बीच 4,000 विशेष रेलगाड़ियां चलाने की योजना से अवगत कराया गया, जबकि पिछले साल 3,800 विशेष रेलगाड़ियां चलाई गई थीं.

161 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
त्योहार पर घर जाना है तो टेंशन क्यों लेते हो, 4000 स्पेशल ट्रेनें, सुरक्षा से लेकर खाने-पाने तक की व्यवस्था

त्योहारों पर 4000 स्पेशल ट्रेनें चलेंगी

खास बातें

  1. त्योहारों में ट्रेनों की भीड़ बढ़ जाती है
  2. 300 से अधिक ट्रेनों में 9,500 अतिरिक्त कोचों की व्यवस्था
  3. ट्रेनों को समय पर चलाने पर भी रहेगा जोर
नई दिल्ली: त्योहारों के दौरान अतिरिक्त भीड़ को कम करने के लिए रेलवे 20 सितंबर से 30 अक्टूबर तक 4,000 विशेष रेलगाड़ियां चलाएगा. रेलवे के अधिकारियों ने रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा को यह जानकारी दी, जिन्होंने इसकी व्यवस्था की समीक्षा करने के लिए मंगलवार को बैठक की.

सेल्फी की सनक: पश्चिम बंगाल में ट्रेन की चपेट में आने से युवक की मौत  

बैठक के दौरान सिन्हा को 20 सितंबर से 30 अक्टूबर के बीच 4,000 विशेष रेलगाड़ियां चलाने की योजना से अवगत कराया गया, जबकि पिछले साल 3,800 विशेष रेलगाड़ियां चलाई गई थीं.

पीएम मोदी 22 सितंबर को महामना एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाएंगे

इस अवधि के दौरान रेलवे में पूर्वी राज्यों बिहार, पश्चिम बंगाल और ओडिशा की ओर जाने वाले लोगों की भीड़ बढ़ जाती है, क्योंकि लोग दशहरा, दिवाली और छठ का त्योहार मनाने घर जाते हैं. एक रेलवे अधिकारी ने कहा कि इस स्पेशल ट्रिप के लिए 55 अतिरिक्त रैको की व्यवस्था की गई है. अधिकारी ने कहा कि इस बीच, रेलवे ने 300 से अधिक ट्रेनों में 9,500 अतिरिक्त कोचों की व्यवस्था की है.

उन्होंने कहा कि रेलवे केवल विशेष गाड़ियां ही नहीं चलाएगा बल्कि यह सुनिश्चित करेगा कि वे समय पर चलें और तय समय पर अपने गंतव्य पर पहुंचे. सिन्हा ने कहा, ‘इस साल दुर्गापूजा/दशहरा, दीपावली व छठ पर्व वाले त्योहारी मौसम में देश भर में 4000 विशेष रेलगाड़ियां चलाई जाएंगी जबकि 55 अतिरिक्त रैकों की व्यवस्था की गई है. इसी तरह रेलवे भीड़-भाड़ वाले मार्गों पर नयी गाड़ी चलाने के लिए कुछ अलोकप्रिय रेलगाड़ियों को बंद भी कर सकता है.’  उन्होंने कहा कि 306 नियमित तौर पर चलने वाली ट्रेनों में 9500 अतिरिक्त डिब्बों की व्यवस्था भी की जा रही है. रेलवे ने इसके लिए तैयारी पहले ही शुरू कर दी है और ये अतिरिक्त डिब्बे 30 अक्तूबर तक रहेंगे.

मुंबई और दिल्‍ली के बीच चलेगी एक और राजधानी एक्‍सप्रेस, यात्रियों के समय की होगी बचत

मंत्री ने कहा कि दुर्गा पूजा/दशहरा व दीपावली पर पूरे देश में विभिन्न स्थानों से लोकप्रिय गंतव्यों के लिए रेलगाड़ियां चलाई जाएंगी और नियमित ट्रेनों में अतिरिक्त डिब्बे लगाए जाएंगे. वहीं छठ पर्व के दौरान कोलकाता, दिल्ली, मुंबई तथा सूरत/वडोदारा/अहमदाबाद क्षेत्रों से पूर्वी उत्तर प्रदेश व बिहार के लिए विशेष गाड़ियां चलाई जाएंगी. पिछले साल रेलवे ने इस त्योहारी सीजन में 3800 विशेष ट्रेन चलाई थीं जिनकी संख्या इस बार बढ़ाई गई है.
त्योहारी मौसम में किए जाने वाले विशेष प्रबंधों का ब्यौरा देते हुए उन्होंने कहा कि अतिरिक्त आरक्षण खिड़कियों की व्यवस्था की जा रही है. स्टेशन पर बिक्री व वितरण का काम भी किया जाएगा. इस दौरान स्टेशनों पर भीड़- भड़ाका नहीं हो यह सुनिश्चित करने के लिए अधिक भीड़ या व्यस्त समय में प्लेटफार्म टिकटों की बिक्री बंद कर दी जाएगी और केवल यात्रियों को ही प्लेटफार्म पर जाने की अनुमति होगी.

उन्होंने कहा कि यात्रियों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए बड़े स्टेशनों पर पंडाल आदि की व्यवस्था की जा रही है तथा पेयजल व जनता खाना की उपलब्धता बढ़ाई जाएगी. रेलमंत्री के अनुसार रेलवे त्योहारी सीजन में यात्रियों की सुविधा के साथ साथ उनकी सुरक्षा को लेकर भी सजग है और रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) के अतिरिक्त बलों व विशेष दस्तों की तैनाती की जा रही है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement