NDTV Khabar

पीएम मोदी ने महिलाओं को खुद सुनाई यह खुशखबरी, जानें क्या है मामला

218 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
पीएम मोदी ने महिलाओं को खुद सुनाई यह खुशखबरी, जानें क्या है मामला

पीएम मोदी ने महिलाओं को सुनाई यह खुशखबरी

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि महिलाओं को अब शादी या तलाक के बाद पासपोर्ट में अपना नाम बदलवाने की जरूरत नहीं है और वह अपने माता या पिता दोनों में से किसी एक का भी नाम देकर पासपोर्ट बनवा सकती हैं. मोदी ने उद्योग संगठन इंडियन मचेर्ंट्स चैंबर के महिला प्रकोष्ठ के एक समारोह को वीडियो लिंक से संबोधित करते हुए कहा, पासपोर्ट नियमों में महत्वपूर्ण बदलाव किया गया है. अब किसी महिला के लिए अपनी शादी या तलाक का प्रमाणपत्र देना जरूरी नहीं होगा. यह उसके ऊपर है कि वह पासपोर्ट पर अपने पिता या माता का नाम रख सकती है. पीएम   मोदी ने कहा कि उनकी सरकार महिलाओं के सशक्तीकरण के लिए प्रतिबद्ध है और इसके लिए उन्होंने कुछ योजनाएं गिनाईं. इनमें 70 प्रतिशत मुद्रा लोन महिला उद्यमियों को दिए जाने की योजना शामिल है. प्रधानमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार की प्राथमिकता है कि प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत बनाए जा रहे घरों की रजिस्ट्री उस परिवार की किसी महिला के नाम पर हो. संपत्ति की रजिस्ट्री में महिलाओं के नाम बहुत कम मिलते हैं.

उन्होंने कहा कि सरकार ने महिलाओं को केंद्र की सभी योजनाओं में पहला अधिकार देने का भी फैसला किया है. पीएम मोदी ने कहा कि सरकार ने उज्ज्वला योजना के तहत मुफ्त गैस कनेक्शन देकर अब तक दो करोड़ महिलाओं को चूल्हों के नुकसानदायक प्रभावों से बचाया है. उन्होंने कहा कि इस योजना के तहत सरकार अगले दो सालों में पांच करोड़ और परिवारों को जोड़ना चाहती है. मोदी ने कहा कि यह संभव हुआ क्योंकि उनकी अपील पर 1.2 करोड़ लोगों ने एलपीजी की सब्सिडी छोड़ दी.

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement