NDTV Khabar

गोरखपुर हादसे पर प्रधानमंत्री गंभीर, स्वास्थ्य मंत्री अनुप्रिया को दी नज़र रखने की जिम्मेदारी

गोरखपुर के मेडिकल कॉलेज में 10 और 11 अगस्त को 30 बच्चों की मौत हुई थी. मौत की वजह ऑक्सीजन की कमी बताई गई थी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
गोरखपुर हादसे पर प्रधानमंत्री गंभीर, स्वास्थ्य मंत्री अनुप्रिया को दी नज़र रखने की जिम्मेदारी

इन्सेफेलाइटिस से पूर्वांचल में हर साल 100 से ज्‍यादा बच्चों की मौत होती है

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लगातार उत्तर प्रदेश के गोरखपुर की स्थिति पर नजर रखे हुए हैं जहां एक अस्पताल में कम से कम 30 बच्चों की मौत हो गई. प्रधानमंत्री केंद्र और राज्य के सम्पर्क में हैं. प्रधानमंत्री कार्यालय ने इस बात की जानकारी दी है.

यह भी पढ़ें: गोरखपुर: 5 दिनों में 60 बच्चों की मौत पर कौन देगा इन 10 सवालों का जवाब?

प्रधानमंत्री कार्यालय के अनुसार, केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री अनुप्रिया पटेल गोरखपुर में स्थिति पर नजर रखेंगी. गोरखपुर के जिलाधिकारी राजीव रौतेला ने बताया था कि गोरखपुर स्थित बाबा राघवदास मेडिकल कालेज में बीते 48 घंटे के दौरान 30 बच्चों की मौत हो गई.

यह भी पढ़ें: यूं ही नहीं हुईं 30 बच्चों की मौत, भयावह है सरकारी अस्पतालों का सच

उत्तर प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा था कि रिपोर्टो के मुताबिक, कालेज के बाल स्वास्थ्य विभाग में सात अगस्त से विभिन्न कारणों से 60 बच्चों की मौत हो गई है. 

VIDEO: गोरखपुर अस्पताल में 36 घंटे में 30 मासूमों की मौत 10 और 11 अगस्त को हुए हादसे की वजह अस्पताल के आईसीयू में ऑक्सीजन की कमी बताई जा रही है. बताया गया कि ऑक्सीजन सप्लाई करने वाली कंपनी का भुगतान नहीं होने के कारण कंपनी ने ऑक्सीजन की सप्लाई बंद कर दी थी, जिसकी वजह से यह हादसा हुआ. 

 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement