NDTV Khabar

श्रीनगर में अलगाववादियों के बंद और प्रदर्शन पर प्रतिबंध, रेल सेवाएं रद्द

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में एक नागरिक की मौत के विरोध में अलगाववादियों द्वारा बुलाए गए बंद व विरोध प्रदर्शन को रोकने के लिए मंगलवार को प्रशासन ने श्रीनगर के कई हिस्सों में प्रतिबंध लगा दिया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
श्रीनगर में अलगाववादियों के बंद और प्रदर्शन पर प्रतिबंध, रेल सेवाएं रद्द

फाइल फोटो

खास बातें

  1. एक नागरिक की मौत के विरोध में बुलाया गया है बंद
  2. प्रशासन ने बंद और प्रदर्शन पर लगाया प्रतिबंध
  3. कश्मीर विश्वविद्यालय में परीक्षाएं रद्द
श्रीनगर:

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में एक नागरिक की मौत के विरोध में अलगाववादियों द्वारा बुलाए गए बंद व विरोध प्रदर्शन को रोकने के लिए मंगलवार को प्रशासन ने श्रीनगर के कई हिस्सों में प्रतिबंध लगा दिया है. सैयद अली गिलानी, मीरवाइज उमर फारूख और मुहम्मद यासिन मलिक के नेतृत्व वाले अलगाववादी संगठन ज्वाइंट रेसिस्टेंस लीडरशिप (जेआरएल) द्वारा बंद का आह्रान किया गया है.

यह भी पढ़ें : जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सेना और आतंकियों के बीच मुठभेड़ जारी

गौरतलब है कि, सोमवार को शीर्ष हिजबुल कमांडर समीर टाइगर और उसका सहयोगी अकीब जिले के द्रबगाम गांव में चार घंटे तक चली मुठभेड़ में मारे गए थे. इसी इलाके में पत्थरबाजी कर रही भीड़ की सुरक्षा बलों के साथ झड़प हुई. जिसमें एक नाबालिग की मौत हो गई थी. जबकि 15 अन्य नागरिक घायल हो गए थे. इसके विरोध में बंद का आह्वान किया गया था. प्रशासन ने रैनावारी, खानयार, नौहट्टा, एम.आर गंज और सफा कदाल में प्रतिबंध लगाए गए हैं. वहीं, मैसूमा और क्रालखुद में आंशिक तौर पर प्रतिबंध लगाया गया है.


यह भी पढ़ें : पुलवामा में राजनीतिक कार्यकर्ता की सरेआम हत्या

दूसरी तरफ, कश्मीर विश्वविद्यालय में मंगलवार को होने वाली सभी परीक्षाओं को रद्द कर दिया गया है. उत्तरी कश्मीर के बारामूला और जम्मू क्षेत्र के बनिहाल के बीच रेल सेवाओं को रद्द कर दिया गया है. दक्षिण कश्मीर में मोबाइल इंटरनेट सेवाओं को भी बंद कर दिया गया है, जबकि श्रीनगर शहर व घाटी के अन्य सभी जिला मुख्यालयों में दुकानें, व्यावसायिक प्रतिष्ठान और सार्वजनिक परिवहन बंद हैं. 

यह भी पढ़ें : जम्मू-कश्मीर में भारतीय वायुसेना स्टेशन के बाहर आतंकी हमले की साजिश विफल

टिप्पणियां

VIDEO: आज का एजेंडा : क्या पाक से उम्मीद बेमानी है?

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement