NDTV Khabar

कश्मीर मुद्दे के स्थायी समाधान के लिए काम कर रही है सरकार: राजनाथ सिंह  

राजनाथ सिंह ने आतंकवाद पर अंकुश लगाने में जम्मू-कश्मीर पुलिस के प्रयासों की सराहना की. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में किसी तरह की रुकावट पैदा नहीं की है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कश्मीर मुद्दे के स्थायी समाधान के लिए काम कर रही है सरकार: राजनाथ सिंह  

केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह. (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. गृह मंत्री बोले, घाटी में पथराव की घटनाओं में कमी आई है
  2. राज्य सरकार ने किसी तरह की रुकावट पैदा नहीं की है
  3. कश्मीर को अपनी पहचान कायम रखनी चाहिए
नई दिल्ली: केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने रविवार को कहा कि घाटी में पथराव की घटनाओं में कमी आई है और केंद्र सरकार कश्मीर मुद्दे के स्थायी समाधान की दिशा में काम कर रही है. सिंह ने आतंकवाद पर अंकुश लगाने में जम्मू-कश्मीर पुलिस के प्रयासों की सराहना की. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में किसी तरह की रुकावट पैदा नहीं की है.

यह भी पढ़ें : अनुच्‍छेद 35-A को लेकर गृह मंत्री राजनाथ सिंह से मिलीं महबूबा मुफ्ती

पथराव की घटनाओं में कमी आई है
गृहमंत्री ने एक कार्यक्रम में कहा, कश्मीर में जो कदम हम उठा रहे हैं, वे मुद्दे के स्थायी समाधान के लिए हैं. मैं बहुत ज्यादा कुछ नहीं कहूंगा और ऐसा करना उचित भी नहीं रहेगा. कश्मीर को अपनी पहचान कायम रखनी चाहिए. सिंह ने कहा कि कश्मीर में पथराव की घटनाओं में कमी आई है, लेकिन सरकार इससे संतुष्ट नहीं है, क्योंकि पथराव पूरी तरह से रुकना चाहिए.

यह भी पढ़ें : फारूक अब्दुल्ला के फॉर्मूले पर महबूबा मुफ्ती बोलीं- हमें जम्मू-कश्मीर को सीरिया नहीं बनाना

VIDEO: कश्मीर मसले पर फारूक अब्दुल्ला के बयान पर विवाद



टिप्पणियां
कश्मीरी पंडितों की घाटी में वापसी के सवाल पर गृह मंत्री ने कहा कि मुफ्ती मोहम्मद सईद के समय कई कदम उठाए गए थे और जमीन भी चिह्नित कर ली गई थी. उन्होंने कहा कि इसमें जल्दबाजी नहीं की जा सकती.

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement