साधारण मोबाइल फोन-लैंडलाइन उपभोक्ताओं के लिए सरकार ने शुरू किया आरोग्य सेतु इंटरएक्टिव वॉयस रिस्पांस सिस्टम

देश में साधारण मोबाइल फोन और लैंडलाइन फोन वाले उपभोक्ताओं के लिए ''आरोग्य सेतु'' मोबाइल एप्लिकेशन के दायरे का विस्तार करते हुए '' आरोग्य सेतु इंटरएक्टिव वॉयस रिस्पांस सिस्टम'' शुरू किया गया है.

साधारण मोबाइल फोन-लैंडलाइन उपभोक्ताओं के लिए सरकार ने शुरू किया आरोग्य सेतु इंटरएक्टिव वॉयस रिस्पांस सिस्टम

सरकार ने आरोग्य सेतु इंटरएक्टिव वॉयस रिस्पांस सिस्टम की शुरुआत की है.

नई दिल्ली:

देश में साधारण मोबाइल फोन और लैंडलाइन फोन वाले उपभोक्ताओं के लिए ''आरोग्य सेतु'' मोबाइल एप्लिकेशन के दायरे का विस्तार करते हुए '' आरोग्य सेतु इंटरएक्टिव वॉयस रिस्पांस सिस्टम'' शुरू किया गया है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने यह जानकारी दी. मंत्रालय ने कोरोनावायरस महामारी से निपटने के लिए लोगों से स्मार्ट फोन में इस ऐप को डाउनलोड करने की अपील भी की है. मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि ''आरोग्य सेतू इंटरएक्टिव वॉयस रिस्पांस सिस्टम'' (आईवीआरएस)निशुल्क सेवा है जोकि पूरे देश में उपलब्ध है. इसके तहत, नागरिक ''1921'' नंबर पर मिस्ड कॉल दे सकते हैं जिसके बाद उन्हें वापस फोन कर स्वास्थ्य से संबंधित जानकारी मुहैया कराने का निवेदन किया जाएगा.''

बयान के मुताबिक, ''पूछे जाने वाले सवाल आरोग्य सेतु के साथ श्रेणीबद्ध हैं और दी जाने वाली प्रतिक्रिया पर आधारित हैं. नागरिकों को उनके स्वास्थ्य की स्थिति को दर्शाने वाला एक संदेश भी प्राप्त होगा और भविष्य में स्वास्थ्य में सुधार के लिए भी सूचनाएं मिलती रहेंगी.''

मोबाइल ऐप की तरह ही यह टोलफ्री सुविधा भी 11 क्षेत्रीय भाषाओं में उपलब्ध है. इसमें कहा गया कि नागरिकों की ओर से मुहैया करायी गई सूचनाओं को आरोग्य सेतु के आधारभूत आंकड़ों का हिस्सा बनाया जाएगा और लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए उनसे संबंधित सूचनाएं प्रेषित की जाएंगी. 

हैकर का दावा- आरोग्य सेतु से निजी डेटा खतरे में; सरकार ने खारिज किया दावा



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com