Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

अपने वादे निभाने के लिए मोदी सरकार को पांच साल का समय और चाहिए: सुब्रमण्यम स्वामी 

स्वामी ने कहा कि सत्ताधारी पार्टी ने मतदाताओं से किए गए वादे निभाने शुरू कर दिए हैं व उसे अपना काम पूरा करने के लिए और पांच साल का वक्त देने की जरूरत है.

अपने वादे निभाने के लिए मोदी सरकार को पांच साल का समय और चाहिए: सुब्रमण्यम स्वामी 

सुब्रमण्यम स्वामी की फाइल फोटो

नई दिल्ली:

भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने रविवार को कहा कि केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार को अपने वादे पूरे करने के लिए पांच साल का एक और कार्यकाल दिए जाने की जरूरत है. हालांकि, स्वामी ने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था अच्छी स्थिति में नहीं है , क्योंकि वह वित्त मंत्री के पद पर नहीं हैं. स्वामी ने कहा कि आर्थिक विकास से वोट नहीं मिलने वाले (पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी) वाजपेयी जी ने अपनी सरकार के प्रचार के लिए इंडिया शाइनिंग नारे का इस्तेमाल किया लेकिन वह नाकाम रहे. भाजपा ने अपनी आस्था (हिंदुत्व) और भ्रष्टाचार मुक्त माहौल पर जोर दिया. इसीलिए उसे 2014 में इतनी ज्यादा सीटें मिलीं. स्वामी ने कहा कि सत्ताधारी पार्टी ने मतदाताओं से किए गए वादे निभाने शुरू कर दिए हैं व उसे अपना काम पूरा करने के लिए और पांच साल का वक्त देने की जरूरत है.

यह भी पढ़ें: एयरसेल-मैक्सिस केस- SC ने केंद्र से पूछा- क्या ईडी अफसर राजेश्वर सिंह का समर्थन करते हैं

उन्होंने कहा कि मैं यह नहीं कहूंगा कि हमने 2014 में जो वादे किए थे, उन्हें हमने पूरा कर दिया है , लेकिन हमने उनका मान रखना शुरू कर दिया है. हमने जो चीजें शुरू की हैं , उन्हें पूरा करने के लिए हमें और पांच साल के वक्त की जरूरत है. आगामी 18 जुलाई से शुरू हो रहे संसद के मानसून सत्र से पहले विवादित टिप्पणी करते हुए स्वामी ने कहा कि कुछ नौकरशाह सरकार के अच्छे कामों में पलीता लगा रहे हैं.

यह भी पढ़ें: तारकेश्वर मंदिर प्रकरण: CM ममता ने दिया आश्वासन, अब कोर्ट नहीं जाएंगे स्वामी

स्वामी ने कहा कि पहली बार हम इतने सारे भ्रष्ट लोगों पर मुकदमा चलवा रहे हैं. भले ही उन्हें अब तक सजा नहीं हुई हो. हमारे यहां की व्यवस्था में 70 साल तक कुछ बदला ही नहीं, जिसके कारण आज हम अपनी सरकार में कुछ ऐसे नौकरशाहों को देखते हैं जो हमारे काम में पलीता लगा रहे हैं. भाजपा नेता ने कहा कि मैंने कुछ नामों का खुलासा करने का वादा किया था , लेकिन चूंकि संसद सत्र आ रहा है तो मैं कांग्रेस को कोई मौका नहीं दूंगा कि वह मेरे बयान को मेरी ही सरकार के खिलाफ इस्तेमाल करे.

VIDEO: सुप्रीम कोर्ट में अयोदध्या की सुनवाई.

संसद सत्र के बाद वह यहां एक जनसभा में नामों का खुलासा करेंगे. उन्होंने कहा कि लेकिन तब तक हो सकता है कि (प्रधानमंत्री) नरेंद्र मोदी उन्हें हटा दें , इसलिए मुझे वे नाम नहीं बताने होंगे. कांग्रेस को बेल गाड़ी जैसा बताने की मोदी की हालिया टिप्पणी पर स्वामी ने कहा कि बेल गाड़ी अब तिहाड़ विहार करने जा रही है. विपक्षी कांग्रेस पर निशाना साधते हुए स्वामी ने कहा कि विकीलीक्स के मुताबिक 2006 में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अमेरिकी दूतावास गए थे और वहां अधिकारियों से कथित तौर पर कहा था कि उनकी पार्टी का निष्कर्ष है कि हिंदू आतंक लश्कर - ए - तैयबा से भी ज्यादा खतरनाक है. (इनपुट भाषा से)