अनुच्छेद 370 हटाने की आलोचना करने वालीं ब्रिटिश सांसद को वापस भेजने पर सरकार का बयान- उन्हें पूरे सम्मान के साथ भेजा था वापस

जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) से अनुच्छेद 370 (Article 370) खत्म किए जाने के बाद ब्रिटिश सांसद डेबी अब्राहम्स (Debbie Abrahams) ने मोदी सरकार के इस फैसले की आलोचना की थी.

अनुच्छेद 370 हटाने की आलोचना करने वालीं ब्रिटिश सांसद को वापस भेजने पर सरकार का बयान- उन्हें पूरे सम्मान के साथ भेजा था वापस

डेबी अब्राहम्स को दिल्ली एयरपोर्ट से दुबई वापस भेज दिया गया था. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • सोमवार को भारत पहुंची थीं डेबी अब्राहम्स
  • दुबई से भारत आई थीं ब्रिटिश सांसद
  • ब्रिटिश MP को एयरपोर्ट से बैरंग लौटाया
नई दिल्ली:

जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) से अनुच्छेद 370 (Article 370) खत्म किए जाने के बाद ब्रिटिश सांसद डेबी अब्राहम्स (Debbie Abrahams) ने मोदी सरकार के इस फैसले की आलोचना की थी. ब्रिटिश संसद की सदस्य और कश्मीर के लिए ऑल पार्टी पार्लियामेंट्री ग्रुप की प्रेसिडेंट डेबी बीते सोमवार दुबई से भारत पहुंची थीं लेकिन दिल्ली एयरपोर्ट पर ही उन्हें रोक दिया गया. उन्हें बताया गया कि उनका ई-वीजा वैध नहीं है, किन्हीं कारणों से उनका वीजा रद्द कर दिया गया है. जिसके बाद उन्हें वापस दुबई भेज दिया गया. इस फैसले को लेकर भारत सरकार पर सवाल उठे. विदेश मंत्रालय ने गुरुवार को बताया कि ब्रिटिश सांसद को पूरे सम्मान के साथ वापस भेजा गया था.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने बताया, 'उनके (डेबी अब्राहम्स) पास वैध वीजा नहीं था. जिसके बाद उन्हें दिल्ली एयरपोर्ट से ही बड़ी इज्जत से वापस भेजा गया. ब्रिटिश सांसद की ओर से भारत के खिलाफ निरंतर अभियान चलाया जाता है. हम मानते हैं कि उनके बयान और उनकी विचारधारा भारत के खिलाफ है.'

कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी बोले- ब्रिटिश सांसद को वापस भेजना बहुत जरूरी था, बताई वजह

वीजा रद्द किए जाने के बाद डेबी अब्राहम्स ने कहा था, 'दिल्ली एयरपोर्ट पर बाकी सभी लोगों की तरह मैंने भी इमिग्रेशन डेस्क पर अपने दस्तावेज दिखाए थे. उसमें मेरा ई-वीजा भी था. अधिकारियों ने मुझसे कहा कि मेरा वीजा रद्द कर दिया गया है. उन लोगों ने मेरा पासपोर्ट ले लिया और करीब 10 मिनट के लिए वह लोग वहां से गायब हो गए. जब वह वापस लौटे तो बेहद गुस्से में थे और मुझसे चिल्लाते हुए बोले कि मेरे साथ आओ. मैंने उनसे कहा कि मुझसे ऐसे बात मत करो.'

सरकारी सूत्रों का दावा- देशहित के खिलाफ थीं ब्रिटिश MP डेबी अब्राहम्स की गतिविधियां

ब्रिटिश सांसद ने ट्वीट किया था, 'भारत सरकार ने मुझे वीजा दिए जाने के बाद इसे रद्द क्यों कर दिया. उन्होंने मुझे वीजा ऑन अराइवल क्यों नहीं दिया. क्या ये इसलिए हुआ क्योंकि मैं कश्मीर में मानवाधिकारों के मुद्दों पर भारत सरकार की आलोचना कर रही हूं.' सरकार की ओर से मिली जानकारी के अनुसार, 14 फरवरी 2020 को ही भारत के राष्ट्रीय हित के खिलाफ गतिविधियों में लिप्त होने के कारण डेबी अब्राहम्स का ई-बिजनेस वीजा रद्द कर दिया गया था. अधिकारियों ने कहा कि वीजा देना, उसे अस्वीकृति करना और उसे रद्द करना किसी भी देश का संप्रभु अधिकार है. उन्होंने जब भारत की यात्रा की तो उनके पास वैध वीजा नहीं था, इसी वजह से उनसे वापस जाने का अनुरोध किया गया था.

VIDEO: भारत की कश्मीर नीति की आलोचक ब्रिटिश सांसद को एयरपोर्ट से वापस लौटाया

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com