माल्या के प्रत्यर्पण में कोई कसर नहीं छोड़ी : विदेश मंत्रालय 

कुमार ने कहा कि प्रत्यर्पण को लेकर सुनवायी चल रही है. उन्होंने कहा कि मैं समझता हूं कि मामले में अंतिम दलीलें पूरी हो चुकी हैं.

माल्या के प्रत्यर्पण में कोई कसर नहीं छोड़ी : विदेश मंत्रालय 

विजय माल्या की फाइल फोटो

नई दिल्ली:

केंद्र सरकार ने गुरुवार को कहा कि उसने ब्रिटेन की अदालत को यह विश्वास दिलाने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी कि भगोड़े उद्योगपति विजय माल्या को भारत को प्रत्यर्पित किया जाना चाहिए. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने इसकी जानकारी दी. कुमार ने कहा कि प्रत्यर्पण को लेकर सुनवायी चल रही है. उन्होंने कहा कि मैं समझता हूं कि मामले में अंतिम दलीलें पूरी हो चुकी हैं. अब हमें फैसले का इंतजार है.

यह भी पढ़ें: कानून से भगोड़ा करार दिया जा सकता है विजय माल्या : ब्रिटिश अदालत

उन्होंने कहा कि मैं आपको भरोसा दिला सकता हूं कि हमने अदालत को यह विश्वास दिलाने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी है कि विजय माल्या को भारत को प्रत्यर्पित किया जाना चाहिए. पंजाब नेशनल बैंक से करोड़ों रुपये की धोखाधड़ी करने वाले भगोड़े उद्योगपति नीरव मोदी और मेहुल चोकसी के वर्तमान ठिकानों के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि विदेश मंत्रालय उनके ठिकानों के बारे में जानकारी नहीं मुहैया करा सकता.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO: ब्रिटेन में शरण लेगा नीरव मोदी. 

इसकी जानकारी तभी होगी जब संबंधित एजेंसियां उनके स्थान के बारे में सूचित करें. यह पूछे जाने पर कि क्या इस्लामी प्रचारक जाकिर नाइक के प्रत्यर्पण का मुद्दा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके मलेशियाई समकक्ष महातिर मोहम्मद के बीच हुई बातचीत के दौरान उठा , कुमार ने कहा कि दोनों नेताओं के बीच बातचीत बहुत अल्प अवधि के लिए हुई. (इनपुट भाषा से)