सरकार ने पाक, बांग्लादेश सीमाओं के लिए बीएसएफ को 7,000 जवानों की मंजूरी दी

आधिकारिक सूत्रों ने गुरुवार को यह जानकारी दी. गृह मंत्रालय ने बल को 2,090.94 करोड़ रुपए की राशि भी आवंटित की है.

सरकार ने पाक, बांग्लादेश सीमाओं के लिए बीएसएफ को 7,000 जवानों की मंजूरी दी

(प्रतीकात्मक तस्वीर)

खास बातें

  • सैनिकों को छह बटालियनों में तैनात किया जाएगा.
  • बीएसएफ के प्रत्येक बटालियन में 1000 से अधिक जवान और अधिकारी होते हैं.
  • गृह मंत्रालय ने बल को 2,090.94 करोड़ रुपए की राशि भी आवंटित की है.
नई दिल्ली:

पाकिस्तान से लगी देश की अशांत सीमा की पहरेदारी करने वाला सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) छह नयी बटालियन गठित करेगा, जिनमें करीब 7,000 कर्मी होंगे. आधिकारिक सूत्रों ने गुरुवार को यह जानकारी दी. गृह मंत्रालय ने बल को 2,090.94 करोड़ रुपए की राशि भी आवंटित की है. नयी बटालियनों को भारत - बांग्लादेश सीमा पर तस्करी और घुसपैठ के जोखिम वाले इलाकों में भी तैनात किया जाएगा. सूत्रों ने बताया कि बल द्वारा नयी भर्तियां किए जाने वाले सैनिकों को छह बटालियनों में तैनात किया जाएगा. करीब साल भर में उनका गठन हो जाएगा.

बीएसएफ के प्रत्येक बटालियन में 1000 से अधिक जवान और अधिकारी होते हैं. सूत्रों ने बताया कि मंत्रालय ने इस सिलसिले में बल के प्रस्ताव को 19 जनवरी को मंजूरी दी थी और बीएसएफ मुख्यालय को इसकी प्रक्रिया शीघ्रता से शुरू करने को कहा था.

यह भी पढ़ें : रोहिंग्या को वापस भेज रहा है बीएसएफ : उच्चतम न्यायालय ने केंद्र सरकार से मांगा जवाब

पाकिस्तान और बांग्लादेश से लगी सीमाओं की पहरेदारी के बल के कार्य के तहत चार बटालियनों का गठन किया जाएगा. जबकि शेष दो बटालियन कार्यकारी इकाइयों की पूरक होंगी और वे पहले से तैनात जवानों की जगह लेंगी. भारत तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) पर चीन से लगी देश की 3488 किमी लंबी सीमा की पहरेदारी की जिम्मेदारी है. सूत्रों ने बताया आईटीबीपी को नयी बटालियनें गठित करने की इजाजत देने की गृह मंत्रालय की मंजूरी आखिरी चरणों में है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO : बीएसएफ की महिला जवानों ने दिखाए करतब​

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)