यह ख़बर 12 नवंबर, 2012 को प्रकाशित हुई थी

सीएजी को अपना एजेंट बनाना चाहती है सरकार : केजरीवाल

सीएजी को अपना एजेंट बनाना चाहती है सरकार : केजरीवाल

खास बातें

  • प्रधानमंत्री कार्यालय में मंत्री वी नारायणसामी के सीएजी कार्यालय पर दिए बयान पर विवाद गहराता जा रहा है। सोमवार को विपक्ष और भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई के झंडाबरदार अरविंद केजरीवाल ने भी सरकार पर हमला बोल दिया।
नई दिल्ली:

प्रधानमंत्री कार्यालय में मंत्री वी नारायणसामी के सीएजी कार्यालय पर दिए बयान पर विवाद गहराता जा रहा है। सोमवार को विपक्ष और भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई के झंडाबरदार अरविंद केजरीवाल ने भी सरकार पर हमला बोल दिया।

दोनों का ही कहना है कि सरकार सीएजी कार्यालय की अहमियत कम करना चाहती है। केजरीवाल ने सरकार पर सीएजी को अपना एजेंट बनाने का प्रयास करने का आरोप लगाया।

वहीं, भारतीय जनता पार्टी नेता वैंकेया नायडू ने आज कांग्रेस पार्टी महासचिव दिग्विजय सिंह पर हमला करते हुए कहा कि अब सरकार सीएजी के कार्यालय पर राजनीति से प्रेरित होने का आरोप लगा रही है।

Newsbeep

नायडू ने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने यह काम पहले भी बोफोर्स के सौदे पर सीएजी की रिपोर्ट आने के बाद किया था। इतना ही नहीं तमाम मौकों पर सीएजी की रिपोर्ट को सरकार ने  खारिज कर दिया है। वैंकेया नायडू का कहना था कि कांग्रेस पार्टी का इतिहास यही रहा है कि इसने देश के तमाम महत्वपूर्ण कार्यालयों की महत्ता कम कर दी है।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


गौरतलब है कि रविवार को केंद्रीय मंत्री नारायणसामी ने बयान दिया था कि सरकार सीएजी को कई सदस्यीय संस्था बनाने पर तेजी से विचार कर रही है। 'भाषा' की इस खबर के बाद एक ओर नारायणसामी ने ऐसी कोई बात कहने का खंडन किया है, वहीं 'भाषा' ने दोहराया कि वह अपनी खबर पर कायम है।