NDTV Khabar

मानव रहित क्रॉसिंग पर हादसे रोकने के लिए सेना के रिटायर जवानों की हो सकती है तैनाती

रेल राज्यमंत्री ने कहा कि अक्तूबर के अंत तक जो मानव रहित क्रासिंग बच जाएंगे, वहां हम सेवानिवृत्त जवानों और होमगार्ड की तैनाती पर विचार कर रहे हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मानव रहित क्रॉसिंग पर हादसे रोकने के लिए सेना के रिटायर जवानों की हो सकती है तैनाती

रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा (फाइल फोटो )

नई दिल्ली: कुशीनगर जिले में मानव रहित क्रासिंग पर स्कूल वैन के ट्रेन की चपेट में आने से हुए बच्चों की मौत की पृष्ठभूमि में रेलवे अब ऐसी क्रासिंग पर सेवानिवृत्त जवानों और होमगार्ड जवानों को लगाने की तैयारी कर रहा है ताकि कुशीनगर जैसी दुर्घटनाएं फिर से न हों. जौनपुर में एक निजी कार्यक्रम में शामिल होने आये रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा ने संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि सबसे पहले तो फाटक क्रासिंगों को बंद करने पर रेलवे गंभीरता से विचार कर रहा है लेकिन फिलहाल दुर्घटनाओं को रोकने के लिए गेट मित्र लगाने का फैसला किया गया है.  

मानव रहित रेल क्रॉसिंग खत्म करने से जुड़ी जानकारी वेबसाइट पर दी जाएगी: रेल मंत्रालय

रेलवे बोर्ड के चेयरमैन ने कहा- इस तारीख तक सभी मानवरहित क्रॉसिंग खत्म हो जाएंगे

रेल राज्यमंत्री ने कहा कि अक्तूबर के अंत तक जो मानव रहित क्रासिंग बच जाएंगे, वहां हम सेवानिवृत्त जवानों और होमगार्ड की तैनाती पर विचार कर रहे हैं.

वीडियो : रेल दुर्घटनाएं कब रुकेंगी

उन्होंने कहा कि जवानों की अनुपब्धता की स्थिति में स्थानीय लोगों को ऐसी क्रासिंग पर तैनात किया जाएगा. सिन्हा ने कहा कि जौनपुर और पूरे उत्तर प्रदेश में 1947 से 2014 तक रेलवे की विभिन्न परियोजनाओं पर जितना व्यय हुआ होगा, उससे ज्यादा कार्य 2014 से 2018 के बीच मौजूदा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के निर्देश पर किया गया है.

टिप्पणियां
 

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement