केरल में CAA के खिलाफ वाम सरकार के विज्ञापन पर राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान को ऐतराज

केरल सरकार ने तीन राष्ट्रीय अखबारों में विज्ञापन प्रकाशित कर कहा था कि राज्य ने राष्ट्रीय जनसंख्या पंजी (NPR) के अभियान को रोक दिया है, जिससे राष्ट्रीय नागरिक पंजी (NRC) बनेगा.

केरल में CAA के खिलाफ वाम सरकार के विज्ञापन पर राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान को ऐतराज

केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान ने लेफ्ट सरकार के विज्ञापन पर आपत्ति जताई है.

खास बातें

  • केरल के राज्यपाल ने लेफ्ट सरकार के विज्ञापन पर आपत्ति दर्ज की है
  • राज्यपाल ने विज्ञापन को पूरी तरह से गैरजरूरी बताया
  • सार्वजनिक धन का इस्तेमाल संसद से पारित कानून के खिलाफ किया गया- राज्यपाल
तिरुवनंतपुरम:

केरल (Kerala) की माकपा ((CPI(M)) नीत वाम मोर्चे की सरकार की ओर से संशोधित नागरिकता कानून (CAA) के खिलाफ राष्ट्रीय अखबारों के प्रथम पृष्ठ पर सरकारी पैंसे से दिए गए विज्ञापन के विरोध में राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान (Arif Mohammad Khan) खुलकर सामने आ गए हैं. उन्होंने इसे ‘‘पूरी तरह से गैरजरूरी'' करार दिया है. उल्लेखनीय है कि राज्य प्रायोजित विज्ञापन शुक्रवार को प्रकाशित किया गया था जिसमें दावा किया गया था कि ‘‘राज्य संवैधानिक मूल्यों की रक्षा करने की कोशिशों का नेतृत्व कर रहा है और केरल विधानसभा सीएए के खिलाफ प्रस्ताव पारित करने वाली पहली विधानसभा है."

भारतीय इतिहास कांग्रेस के मंच पर राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान से CAA पर भिड़ गए इतिहासकार इरफान हबीब

खान ने दिल्ली में टेलीविजन चैनलों से कहा कि सार्वजनिक धन का प्रयोग राजनीतिक अभियान पर खर्च करना ‘‘पूरी तरह गैरजरूरी'' है. खान ने कहा, ‘‘...सार्वजनिक धन का इस्तेमाल संसद की ओर से पारित कानून के खिलाफ किया गया.  यह मेरे लिए थोड़ा अजीब है.'' राज्यपाल ने कहा कि अगर कोई राजनीतिक पार्टी इस तरह का विज्ञापन देती, तो यह तब समस्या नहीं होती.

केरल के राज्‍यपाल आरिफ मोहम्‍मद ने कहा, विधानसभा में CAA के विरोध में पास किया गया प्रस्‍ताव असंवैधानिक

केरल सरकार ने तीन राष्ट्रीय अखबारों में विज्ञापन प्रकाशित कर कहा था कि राज्य ने ‘‘लोगों की चिंताओं के मद्देनजर साहसिक कदम उठाए गए हैं” और राष्ट्रीय जनसंख्या पंजी (NPR) के अभियान को रोक दिया है, जिससे राष्ट्रीय नागरिक पंजी (NRC) बनेगा.

विज्ञापन में दावा किया गया कि राज्य मानव विकास सूचकांक में सबसे आगे है और गरीबी उन्मूलन, स्वास्थ्य मानकों, शिक्षा, लैंगिक समानता और नवोन्मेषी विचारों के मामलों में अन्य राज्यों के मुकाबले शीर्ष रैंकिग पर है.

केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान ने दिया था विवादास्पद बयान- विरोध कर रहे लोग पानी से भरे बदबूदार गड्ढे

उल्लेखनीय है कि इससे पहले पिनरई विजयन(Pinarayi Vijayan) सरकार ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) और भाजपा (BJP) के माकपा पर राजनीतिक हत्याओं के आरोप के जवाब में सात अगस्त 2017 को दिल्ली के अखबारों में विज्ञापन देकर दावा किया था कि राज्य में सबसे कम अपराध दर है.

Newsbeep

देखें वीडियोः खबरों की खबर: महामहिम पर महाभारत 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com




(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)