कैग के बयान की कांग्रेस और सरकार ने की आलोचना

कैग के बयान की कांग्रेस और सरकार ने की आलोचना

खास बातें

  • केंद्र सरकार ने कहा कि कैग विनोद राय की यह टिप्पणी उन पर भी लागू होती है कि फैसले ‘ढीठपन’ के साथ लिए जा रहे हैं क्योंकि वह भी इस सरकार का हिस्सा रह चुके हैं।
नई दिल्ली:

केंद्र सरकार ने गुरुवार को कहा कि नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (कैग) विनोद राय की यह टिप्पणी उन पर भी लागू होती है कि फैसले ‘ढीठपन’ के साथ लिए जा रहे हैं क्योंकि वह भी इस सरकार का हिस्सा रह चुके हैं।

सूचना और प्रसारण मंत्री मनीष तिवारी ने कहा, ‘जैसा कि मैं समझता हूं कि कैग ने सूचना के अधिकार से शुरू हुई पारदर्शिता की व्यवस्था की सराहना करते हुए अपने बयान को प्रासंगिक बताया।’ उन्होंने कहा, ‘‘अगर वह फैसले लेने में ढीठपन की बात करते हैं और इस सरकार की समयावधि का जिक्र करते हैं तो मुझे लगता है कि यह याद करना उचित होगा कि वह (राय) 2004 से 2008 तक इसी सरकार का हिस्सा रहे थे।’ तिवारी ने कहा कि चूंकि कैग स्वयं सरकार का हिस्सा रहे हैं इसलिए उनकी आलोचना उनके कार्यकाल पर भी लागू होती है।

मंत्री ने कहा, ‘इसलिए मेरा अनुमान है कि जब वह ढीठपन की बात करते हैं तो यह मिसाल सरकार में शामिल रहे सभी लोगों पर समान रूप से लागू होती है।’ कैग राय ने बुधवार को गुड़गांव में विश्व व्यापार मंच (डब्ल्यूईएफ) के एक सत्र में कहा था कि सरकार जिस ढीठपन से निर्णय ले रही है वह भयावह है।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com