गुजरात: कांग्रेस MLA ने विधायकों के पद छोड़ने की खबरों पर कहा- पार्टी को नहीं मिला कोई इस्तीफा

राज्यसभा चुनाव से पहले कांग्रेस को डर सता रहा है कि कहीं उसके विधायक बीजेपी के पाले में न चले जाएं, इसलिए उसने शनिवार को अपने 14 विधायकों को फ्लाइट से राजस्थान के लिए रवाना कर दिया.

गुजरात: कांग्रेस MLA ने विधायकों के पद छोड़ने की खबरों पर कहा- पार्टी को नहीं मिला कोई इस्तीफा

गुजरात कांग्रेस के दो विधायकों के इस्तीफा देने की खबरों पर विधायक का जवाब

खास बातें

  • गुजरात में कांग्रेस के दो विधायकों के इस्तीफा देने की खबरें
  • राज्यसभा चुनाव से पहले बढ़ीं कांग्रेस की मुश्किलें
  • विधायकों को भेजा राजस्थान
नई दिल्ली,:

राज्यसभा चुनाव से पहले कांग्रेस ने गुजरात के विधायकों को राजस्थान भेज दिया, लेकिन फिर भी उसकी परेशानियां कम होती हुई नजर नहीं आ रही है. कांग्रेस के दो विधायकों के इस्तीफा देने की खबरें सामने आ रही हैं. इस पर गुजरात के कांग्रेस विधायक विरजीभाई ठुम्मर ने रविवार को इन खबरों को खारिज किया. उन्होंने कहा कि अफवाहें उड़ रही हैं लेकिन पार्टी को अभी तक किसी का इस्तीफा नहीं मिला है. सोमाभाई पटेल कल तक कांग्रेस के संपर्क में थे. दूसरे विधायक जेवी काकडिया से मैंने संपर्क करने की कोशिश की थी लेकिन उनसे संपर्क नहीं हो सका है. 

राज्यसभा चुनाव से पहले कांग्रेस को डर सता रहा है कि कहीं उसके विधायक बीजेपी के पाले में न चले जाएं, इसलिए उसने शनिवार को अपने 14 विधायकों को इंडिगो फ्लाइट से राजस्थान के लिए रवाना कर दिया. वहीं, पांच विधायक सड़क मार्ग से राजस्थान के लिए रवाना हो गए. अहमदाबाद हवाईअड्डे से जयपुर जाने वाले 14 विधायकों में लखाभाई भरवाड़ (वीरमगाम), पूनम परमार (सोजित्रा), जिनीबेन ठाकुर (वाव), चंदनजी ठाकुर (सिद्धपुर), रित्विक मकवाना (चोटिला), चिराग कालरिया (जामजोधपुर), बलदेवजी ठाकुर, नाथाभाई पटेल, हिम्मतसिंह पटेल, इंद्रजीत ठाकुर, राजेश गोहिल, अजितसिंह चौहान, हर्षद रिबादिया और प्रद्युम्न सिंह जडेजा शामिल हैं.

वहीं, राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि कांग्रेस विधायकों पर काफी दबाव है और भाजपा धन और बाहुबल से राज्यसभा चुनाव को प्रभावित करना चाहती है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

182 सदस्यीय गुजरात विधानसभा में भाजपा के पास 103, जबकि कांग्रेस के पास 73 विधायक हैं. राज्यसभा के उम्मीदवार को जीतने के लिए 37 वोटों की जरूरत होगी. दोनों पार्टियों के पास दो सीटें जीतने के लिए पर्याप्त ताकत है. कांग्रेस को उम्मीद है कि निर्दलीय विधायक जिग्नेश मेवाणी उनके उम्मीदवार के लिए ही वोट करेंगे.

वीडियो: रवीश कुमार का प्राइम टाइम: मध्य प्रदेश में राजनीतिक घमासान चरम पर