NDTV Khabar

स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों के खाने के लिए हर दिन 10 रुपये से भी कम खर्च करता है गुजरात

इस बात की जानकारी नीति आयोग के उपाध्यक्ष द्वारा राज्य में बच्चों के स्वास्थ्य और शिक्षा पर होने वाले खर्चों को लेकर कुछ दिन पहले उठाए गए सवाल के बाद दी गई है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों के खाने के लिए हर दिन 10 रुपये से भी कम खर्च करता है गुजरात

प्रतीकात्मक चित्र

नई दिल्ली:

गुजरात सरकार आंगनवाड़ी के तहत स्कूल में पढ़ने वाले सामान्य बच्चों पर हर दिन 6 रुपये जबकि कुपोषित बच्चों पर महज 9 रुपये खर्च करती है. इसकी जानकारी खुद राज्य सरकार ने दी. विधान सभा में राज्य सरकार के इस खर्च की जानकारी स्टेट वुमेन एंड चाइल्ड डेवल्पमेंट मिनिस्टर विभारिबन दावे ने सभी को दी. गौरतलब है कि मंत्री से ऐसे बच्चों के लिए खाने पर होने वाले खर्च को लेकर सवाल पूछा गया था. दावे ने बताया कि अभी तक जितना भी खर्च किया गया है या जा रहा है वह केंद्र सरकार द्वारा वर्ष 2012 में जारी नोटिफिकेशन के आधार पर है.

यह भी पढ़ें: नीति आयोग के उपाध्यक्ष ने कहा- स्वास्थ्य और शिक्षा के क्षेत्र में पिछड़ रहा है गुजरात

गौरतलब है कि इस बात की जानकारी नीति आयोग के उपाध्यक्ष द्वारा राज्य में बच्चों के स्वास्थ्य और शिक्षा पर होने वाले खर्चों को लेकर कुछ दिन पहले उठाए गए सवाल के बाद दी गई है. हालांकि दावे ने बताया कि केंद्र सरकार ने इस खर्च में बढ़ोतरी के उनके प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है. इसके बाद राज्य सरकार आठ रुपये सामान्य बच्चों और कुपोषित बच्चों पर 12 रुपये खर्च कर सकेगी. 


टिप्पणियां

VIDEO: नरेंद्र मोदी के रणनीतिकार होंगे प्रशांत कशोर.

विधानसभा में पूछे गए इस सवाल के जवाब में राज्य के शिक्षा मंत्री भूपेंद्रासन चुदसामा ने कहा कि सरकार हर दिन के हिसाब से कक्षा एक से पांच तके बच्चों पर 4.58 रुपये खर्च करती है. जो इसी स्कीम का हिस्सा है. उन्होंने कहा कि हर दिन के हिसाब से 6वीं से 8वीं तक के छात्रों के खाने पर खर्च के लिए 6.41 रुपये दिए जाते हैं. 
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों (Election News in Hindi), LIVE अपडेट तथा इलेक्शन रिजल्ट (Election Results) के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement