यह ख़बर 14 मई, 2013 को प्रकाशित हुई थी

गुजरात दंगा : कोडनानी को मौत की सजा की अपील को गुजरात सरकार ने टाला

खास बातें

  • गुजरात सरकार के प्रवक्ता नितिन पटेल ने कहा है कि इस मामले में एडवोकेट जनरल से सलाह कर अंतिम फैसला लिया जाएगा। इस मामले की जांच कर रही एसआईटी के कहने पर गुजरात सरकार ने पहले दोषियों की सजा को फांसी की सजा में बदलने के लिए अपील करने की बात कही थी।
अहमदाबाद:

2002 के गुजरात दंगों के नरोडा पाटिया केस में दोषी पाई गईं माया कोडनानी और बाबू बजरंगी समेत 10 आरोपियों की सजा को फ़ांसी की सजा में तब्दील करने की अपील करने का फैसला फिलहाल गुजरात सरकार ने टाल दिया है। गुजरात सरकार के प्रवक्ता नितिन पटेल ने इसकी जानकारी दी।

पटेल ने कहा है कि इस मामले में एडवोकेट जनरल से सलाह कर अंतिम फैसला लिया जाएगा। इस मामले की जांच कर रही एसआईटी के कहने पर गुजरात सरकार ने पहले दोषियों की सजा को फांसी की सजा में बदलने के लिए अपील करने की बात कही थी।

Newsbeep

इस मामले में माया कोडनानी को 28 साल और बाबू बजरंगी को आजीवन कारावस की सजा सुनाई गई है। इसके अलावा इस मामले में आठ दोषियों को भी सजा सुनाई गई है।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


सूत्रों के हवाले से ख़बर आ रही है कि अगर गुजरात सरकार सजा के खिलाफ अपील करने से इनकार करती है तो एसआईटी इस मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट तक जाएगी।