HC में ऑनलाइन सुनवाई के दौरान स्मोकिंग करते पकड़े गए वकील, कोर्ट ने ठोका जुर्माना 

कोर्ट ने वकील जे.वी. अजमेरा के "गैर-जिम्मेदाराना आचरण" के लिए उनकी खिंचाई की और उन पर जुर्माना लगाया है. 

HC में ऑनलाइन सुनवाई के दौरान स्मोकिंग करते पकड़े गए वकील, कोर्ट ने ठोका जुर्माना 

सुनवाई के दौरान धूम्रपान करने पर वकील पर 10,000 रुपये का जुर्माना (प्रतीकात्मक तस्वीर)

खास बातें

  • वर्चुअल सुनवाई के दौरान धूम्रपान करते पकड़े गए वकील
  • कोर्ट ने वकील के आचरण पर उठाया सवाल
  • एक हफ्ते के अंदर कोर्ट की रजिस्ट्री में जुर्माना जमा करने के आदेश
अहमदाबाद:

देश और दुनिया में कोरोनावायरस (Coronavirus) का कहर तेजी से फैल रहा है. इसे देखते हुए कई व्यापक बदलाव किए गए हैं. अदालतों में मामलों की सुनवाई वर्चुअल तरीके (Video Conference) से हो रही है. इस बीच, गुजरात हाईकोर्ट (Gujarat High Cout) में एक मामले की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से सुनवाई के दौरान वकील के धूम्रपान (Smoking) का मामला सामने आया है. कोर्ट ने इसे गंभीरता से लेते हुए वकील पर जुर्माना (Fine) लगाया है. साथ ही वकील के इस आचरण की निंदा की है. 

कोरोना संकट की वजह से हाईकोर्ट में वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिये मामलों की सुनवाई चल रही है. एक मामले की सुनवाई के दौरान, जस्टिस ए.एस. सुपेहिया ने देखा कि शिकायतकर्ता के वकील कार में बैठे धूम्रपान कर रहे थे. कोर्ट ने वकील जे.वी. अजमेरा के "गैर-जिम्मेदाराना आचरण" के लिए उनकी खिंचाई की और उन पर जुर्माना लगाया है. 

जस्टिस सुपेहिया ने अपने आदेश में कहा, "यह कोर्ट अधिवक्ता जे.वी. अजमेरा के इस आचरण पर गंभीरता से आपत्ति जताती है." साथ ही उन्हें एक हफ्ते के अंदर कोर्ट की रजिस्ट्री में 10,000 रुपये जमा करने का आदेश देती है. 

जज ने कहा, "एक अधिवक्ता से यह उम्मीद नहीं की जाती है कि वह कोर्ट में सुनवाई के दौरान कार में बैठकर स्मोकिंग करेगा. एडवोकेट के इस तरह के आचरण की कड़ी निंदा की जाने की जरूरत है." 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

इस घटना के बाद कोर्ट ने अधिवक्ताओं के किसी वाहन या खुले मैदान" से सुनवाई में शामिल होने पर रोक लगा दी है. साथ ही गुजरात बार काउंसिल और हाईकोर्ट बार एसोसिएशन को निर्देश दिया है कि वे अपने सदस्यों को "घर या दफ्तर" से ऑनलाइन सुनवाई में शामिल होने को कहें. 

वीडियो: स्मार्टफोन और इंटरनेट की सुविधा से महरूम लाखों बच्चे