Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

गुजरात में गोमांस रखने को लेकर एक शख्स को तीन साल की सजा

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
गुजरात में गोमांस रखने को लेकर एक शख्स को तीन साल की सजा

प्रतीकात्मक फोटो

सूरत:

गोमांस रखने को लेकर एक स्थानीय अदालत ने एक व्यक्ति को तीन साल की कैद की सजा सुनाई है। गणदेवी न्यायिक मजिस्ट्रेट (प्रथम श्रेणी) सीवाई व्यास की अदालत ने शुक्रवार को रफीक इलयासभाई खलीफा (35) को गुजरात पशु संरक्षण (संशोधन) अधिनियम 2011 की संबद्ध धाराओं के तहत दोषी ठहराते हुए तीन साल की कैद की सजा सुनाई और उस पर 10,000 रुपये का जुर्माना भी लगाया। गौरतलब है कि गोमांस या गोमांस उत्पाद रखना, खरीदना, बेचना या कहीं लाने..ले जाने पर गुजरात में प्रतिबंध है।

गाय एक समुदाय की धार्मिक भावना से जुड़ी
फैसला सुनाते हुए न्यायाधीश ने कहा, गाय एक समुदाय की धार्मिक भावना से जुड़ी हुई है। इसलिए ऐसा कोई अपराध समाज की शांति को खतरा पहुंचाता है। यदि आरोपी को जेल की सजा दी जाती है तो यह अन्य लोगों के लिए ऐसा कोई अपराध करने से दूर रहने का एक उदाहरण पेश करेगा। उन्होंने यह भी कहा कि आरोपी के कमजोर आर्थिक पृष्ठभूमि से होने की बचाव पक्ष की दलील तर्कसंगत नहीं है।

आर्थिक पृष्ठभूमि को आधार बनाना ठीक नहीं
न्यायाधीश ने कहा, यह न्यायोचित नहीं है कि सिर्फ इस आधार पर सजा की अवधि घटा दी जाए कि आरोपी एक कमजोर आर्थिक पृष्ठभूमि से है और उसका परिवार उसी पर निर्भर है। सूरत जिले के गणदेवी तालुका निवासी रफी को 8 अक्तूबर 2014 को उस वक्त गिरफ्तार कर लिया गया था जब गौ संरक्षण समूह के दो सदस्यों ने उसे 20 किलोग्राम गोमांस अपनी मोटरसाइकिल पर दो थलों में ले जाते हुए पकड़ा था। गोमांस की कीमत करीब 4,000 रुपये आंकी गई थी।


टिप्पणियां

गोमांस होने की पुष्टि
गणदेवी पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज की थी जिसने बाद में नमूने फोरेंसिक विज्ञान प्रयोगशाला को भेजा था जिसने इसके गोमांस होने की पुष्टि की थी। हालांकि, इसी मामले में गिरफ्तार किए गए एक अन्य आरोपी एवं कसाई हनीफ यूसुफभाई ममनीयात को साक्ष्य के अभाव में अदालत ने बरी कर दिया।

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... ट्रंप के लिए आयोजित बैंक्वेट में राष्ट्रपति भवन ने सोनिया गांधी को क्यों नहीं दिया न्योता? सूत्रों ने NDTV को बताई यह वजह...

Advertisement