NDTV Khabar

समुद्री रास्ते से पाक कमांडोज के भारतीय क्षेत्र में घुसने की खुफिया जानकारी के बाद गुजरात के बंदरगाह अलर्ट पर

यह अलर्ट कश्मीर को लेकर भारत सरकार द्वारा किए गए फैसलों तथा पाकिस्तान की ओर से पिछले कुछ हफ्तों में जारी किए गए आक्रामक बयानों से भारत व पाकिस्तान के बीच उपजे तनाव के चलते जारी किया गया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां

खास बातें

  1. अलर्ट पर सभी बंदरगाह
  2. पाकिस्तानी कमांडोज के घुसने की मिली जानकारी
  3. सचेत रहने के लिए कहा गया
नई दिल्ली:

कच्छ क्षेत्र के जरिए पाकिस्तानी कमांडो के भारतीय क्षेत्र में घुसने की खुफिया जानकारी मिलने के बाद गुजरात में सभी बंदरगाहों को अलर्ट पर रखा गया है. सूत्रों ने एनडीटीवी को बताया कि गुजरात में सांप्रदायिक दंगे या आतंकी हमले के लिए ये कमांडो समुद्र के रास्ते भारतीय क्षेत्र में घुस सकते हैं. अडानी पोर्ट्स और SEZ के बयान के मुताबिक 'तटरक्षक बल स्टेशन से सूचना मिली थी कि पाकिस्तान प्रशिक्षित कमांडोज ने हरमी नाला क्षेत्र के जरिए कच्छ की खाड़ी में प्रवेश किया है. माना जाना रहा है कि ये कमांडोज पानी के अंदर हमला करने के लिए प्रशिक्षित हैं.'

साथ ही बताया गया है, 'इसलिए गुजरात में किसी भी तरह की प्रतिकूल परिस्थिति से निपटने और सुरक्षा के उपाय करने के लिए निर्देश दिए गए हैं. यह सलाह दी गई कि मुंद्रा पोर्ट के सभी जहाज अत्यंत सुरक्षा उपाय करें और सतर्क निगरानी बनाए रखें.'

पाकिस्तान को रक्षामंत्री राजनाथ सिंह की दो टूक- कश्मीर कब आपका था, जो उसे लेकर रोते रहते हो


कच्छ में कंडला पोर्ट ट्रस्ट के नाम से जाने जाते रहे दीनदयाल पोर्ट ट्रस्ट के सिगनल सुपरिंटेंडेंट के दस्तखतों के साथ जारी अलर्ट में सुरक्षा व्यवस्था बढ़ाए जाने को कहा गया है, जिसमें 'तैयारी और सतर्कता की चरम स्थिति' बनाए रखना, कमज़ोर पड़ सकने वाले इलाकों में अधिकतम उपलब्ध संसाधनों तथा कर्मियों की तैनाती, तट के निकट संदिग्ध व्यक्तियों व नौकाओं पर नज़र रखना, तट के आसपास गश्त लगाते रहना और आसपास के घरों तथा दफ्तरों में सभी वाहनों की तलाशी लिया जाना शामिल हो.

यह अलर्ट कश्मीर को लेकर भारत सरकार द्वारा किए गए फैसलों तथा पाकिस्तान की ओर से पिछले कुछ हफ्तों में जारी किए गए आक्रामक बयानों से भारत व पाकिस्तान के बीच उपजे तनाव के चलते जारी किया गया है.

कश्मीर पर UN को लिखे खत में पाकिस्तान ने केवल राहुल गांधी ही नहीं, बल्कि हरियाणा CM खट्टर और BJP विधायक का भी किया है जिक्र

सोमवार को नौसेना प्रमुख एडमिरल करमबीर सिंह ने खुफिया रिपोर्टों का हवाला देते हुए दावा किया था कि पाकिस्तान-स्थित आतंकवादी गुट जैश-ए-मोहम्मद अपने सदस्यों को पानी के नीचे हमले (अंडरवॉटर हमले) की ट्रेनिंग दे रहा है. समाचार एजेंसी ANI ने बताया कि पुणे में पत्रकारों से बातचीत के दौरान एडमिरल करमबीर सिंह ने कहा, "हमें खुफिया जानकारी मिली है कि जैश-ए-मोहम्मद के अंडरवॉटर विंग को हमलों की ट्रेनिंग दी जा रही है... हम उस पर नज़र रखे हुए हैं, और आपको आश्वासन देते हैं कि हम ऐसी किसी साज़िश को नाकाम करने के लिए पूरी तरह तैयार हैं..."

कश्मीर मुद्दे पर राहुल के बयान पर BJP का हमला- कांग्रेस ने अपनी हरकतों से देश को शर्मसार किया है

नौसेना को दिए गए एक खुफिया अलर्ट के बारे NDTV ने पिछले साल ख़बर दी थी, जिसमें नौसेना के युद्धक पोतों पर हमले के लिए जैश द्वारा डीप सी डाइवरों (गहरे समुद्र में गोता लगाने में सक्षम) के इस्तेमाल की आशंका जताई गई थी. इस अलर्ट में संकेत दिया गया था कि आतंकवादियों के एक गुट को पाकिस्तान के बहावलपुर में गहरे समुद्र में काम आने वाली तकनीकों का प्रशिक्षण दिया जा रहा है, और वे नौसेना के रणनीतिक महत्व वाले संसाधनों पर हमले की साज़िश रच रहे हो सकते हैं.

टिप्पणियां

कश्मीर को लेकर अब रूस का आया बयान, भारत के विदेश मंत्री से बैठक के बाद कहा- यह मामला...

VIDEO: PoK पर रक्षामंत्री राजनाथ सिंह के बयान के क्या हैं मायने?



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement