गुजरात में तनिष्क़ के स्टोर को मिली धमकियां, इलाके में पुलिस तैनात

ऐड पर विरोध के बीच गुजरात के गांधीधाम में कंपनी के एक स्टोर के मैनेजर से जबरन माफीनामा लिखवाए जाने की खबर है. कथित तौर पर इस कच्छ के एक स्टोर को धमकियां मिली थीं. पुलिस ने बताया है कि वो इलाके में गश्ती दे रही है.

गुजरात में तनिष्क़ के स्टोर को मिली धमकियां, इलाके में पुलिस तैनात

अंतरधार्मिक विवाह दिखाने वाले ऐड पर खड़ा हुआ बड़ा विवाद.

नई दिल्ली: गुजरात के कच्छ जिले में ज्वैलरी ब्रांड तनिष्क के एक शोरूम को धमकी मिलने की खबर सामने आ रही है. पुलिस ने आज कहा कि सोशल मीडिया पर ट्रोलिंग के बाद कंपनी द्वारा निकाले गए एक विज्ञापन को लेकर उठे विवाद के बीच यह हुआ है.पुलिस ने कहा कि स्टोर पर धमकी भी दी गई थी, इसके साथ ही पुलिस ने हमला किए जाने की रिपोर्ट से इनकार किया है. "कुछ लोगों ने स्टोर को सूचित किया था कि विज्ञापन सही नहीं था और इससे उनकी भावनाओं को चोट पहुंची थी वहीं कुछ धमकी भरे कॉल भी प्राप्त हुए थे. इलाके में पुलिस नियमित गश्त करती रही है. एक पुलिस अधिकारी ने कहा, कोई दंगा, विरोध या हमला नहीं हुआ.

मामले से जुड़ी अहम जानकारियां :

  1. सोमवार की रात गुजरात की राजधानी गांधीनगर से लगभग 310 किलोमीटर दूर गांधीधाम में तनिष्क के स्टोर को एक विज्ञापन को लेकर निशाना बनाया गया. “गांधीधाम में तनिष्क स्टोर में दो लोग आए और गुजराती में माफी मांगने की मांग की. दुकान के मालिक ने मांग पूरी कर दी थी लेकिन उसे धमकी भरे फोन आ रहे थे. स्टोर पर हमला होने की खबर झूठी है, ”मयूर पाटिल, एक पुलिस अधिकारी ने समाचार एजेंसी एएनआई को बताया. हालांकि, माफी नोट दुकान के बाहर चिपकाया गया था और इसके लिए कोई स्पष्टीकरण नहीं था.

  2. कथित तौर पर स्टोर में मौजूद दो लोगों ने प्रबंधक को विज्ञापन के लिए माफी नोट लिखने के लिए मजबूर किया और बाद में इसे स्टोर के बाहर रख दिया.प्रबंधक ने नोट में लिखा है.  "विज्ञापन शर्मनाक है और हम माफी मांगते हैं. "प्रबंधक राहुल मनुजा ने एएनआई को बताया, "स्टोर पर हमला नहीं किया गया है. हालांकि, मुझे कुछ धमकी कॉल मिली. पुलिस ने हमारा समर्थन किया है.”

  3. तनिष्क विज्ञापन को सोशल मीडिया पर एक वर्ग द्वारा ट्रोल किया गया जिसने महसूस किया कि यह "लव जिहाद को बढ़ावा" देता है. लेकिन कई लोगों द्वारा शातिर ट्रोलिंग की निंदा भी की गई. कांग्रेस नेता शशि थरूर, लेखक चेतन भगत औरकई अन्य लोगों ने कहा कि यह आइडिया ऑफ इंडिया के खिलाफ है.

  4. सोमवार रात को ज्वैलरी ब्रांड के आधिकारिक खातों से विज्ञापन को हटा दिया गया था क्योंकि ब्रांड और रतन टाटा (जिनकीटाटा कंपनी तनिष्क की मालिक है) पर इसे लेकर कई तरह की टिप्पणियों से निशाना बनाया गया था. 

  5. मंगलवार को तनिष्क ने एक बयान जारी कर कहा अनजाने में भावनाओं को ठेस पहुंचाने के लिए दुखी हैं और यह वीडियो को वापस ले रहे हैं.

  6. बयान में कहा गया है, "हम भावनाओं के अनजाने सरगर्मी से घबरा गए हैं और अपने कर्मचारियों, साझेदारों और स्टोर कर्मचारियों की आहत भावनाओं को ध्यान में रखते हुए इस फिल्म को वापस ले रहे हैं."

  7. बेंगलुरु में तनिष्क के ब्रांड प्रबंधकों में से एक को भी ट्रोलिंग का शिकार होना पड़ा है, सूत्रों ने कहा कि वह इस अभियान से जुड़े नहीं थे.

  8. टाइटन के शेयर मंगलवार को विवाद के साथ-साथ बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) पर 2.1 फीसदी और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज पर 2.5 फीसदी की गिरावट के साथ गिर गए. 

  9. इस ऐड में एक गर्भवती  महिला की गोदभराई दिखाई गई है,जिसने साड़ी पहन रखी है और उसकी सास सेरेमनी में ले जा रही हैं.वीडियो खत्म होने के बाद महिला अपनी सास, जिन्होंने सलवार सूट पहन रखा है और सिर पर दुपट्टा डाल रखा है, उससे पूछती है- मां, लेकिन यह रस्म तो आपके घर में होती भी नहीं न, इसपर सास का जवाब आता है- लेकिन बिटिया को खुश रखने की रस्म तो हर घर में होती है न.

  10. विज्ञापन तनिष्क के नए संग्रह के लिए था, जिसे "एकत्वम" कहा जाता है, जिसका शाब्दिक अर्थ है "एकता" मंगलवार को तनिष्क के बयान में कहा गया है.“एकात्म अभियान के पीछे का विचार इन चुनौतीपूर्ण समय के दौरान विभिन्न क्षेत्रों के लोगों, स्थानीय समुदायों और परिवारों से एक साथ आने का जश्न मनाने और सुंदरता की सुंदरता का जश्न मनाने का है. इस फिल्म ने अपने बहुत उद्देश्य के विपरीत, विचलन और गंभीर प्रतिक्रियाओं को प्रेरित किया है."