NDTV Khabar

उत्तराखंड के औली में कचरा बिखेरने वाले गुप्ता बंधुओं पर लगा 2.5 लाख रुपये का जुर्माना

उत्तराखंड के औली में कचरा बिखरने के लिए दक्षिण अफ्रीका के व्यवसायी बंधुओं अजय और अतुल गुप्ता पर 2.5 लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
उत्तराखंड के औली में कचरा बिखेरने वाले गुप्ता बंधुओं पर लगा 2.5 लाख रुपये का जुर्माना

व्यवसायी बंधुओं अजय और अतुल गुप्ता पर 2.5 लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया है.

देहरादून:

उत्तराखंड के औली में कचरा बिखरने के लिए दक्षिण अफ्रीका के व्यवसायी बंधुओं अजय और अतुल गुप्ता पर 2.5 लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया है. औली में पिछले सप्ताह उनके बेटों की शादियां हुई थीं. जोशीमठ नगरपालिका के कार्यकारी अधिकारी एस.पी. नौटियाल ने कहा, "हमने गुप्ता बंधुओं पर 2.5 लाख रुपये का जुर्माना लगाया है." उन्होंने कहा है कि 'खुले में शौच' को लेकर एक लाख रुपये और 1.5 लाख रुपये कचरा फैलाने के लिए जुर्माना लगाया गया है. उन्होंने बताया कि चालान की एक प्रति शादी के कार्यक्रम की देखरेख करने वाली कंपनी को भी भेज दी गई है. इसके अलावा, पर्यावरणीय चिंताओं के बीच हुई शादियों के बाद बचा हुआ कचरा इकट्ठा करने के लिए नगरपालिका 8.14 लाख रुपये का बिल भी तैयार कर रही है.  

200 करोड़ की शादी के बाद छोड़ गए थे 4 टन कचरा, अब सफाई के लिए नगर निकाय को दिए 54,000


गुप्ता बंधु पहले ही 5.54 लाख रुपये नगरपालिका में जमा करा चुके हैं, जिसमें 54 हजार रुपये उपयोगकर्ता शुल्क के रूप में शामिल हैं. हाई-प्रोफाइल शादियों के बाद जोशीमठ नगरपालिका ने अब तक 306 क्विंटल कचरा विवाह स्थल से इकट्ठा किया है. अधिकारियों ने कहा है कि नगरपालिका प्रतिदिन 3-4 ट्रकों को भरकर कचरा इकट्ठा कर रहा है. उन्हें उम्मीद है कि वह स्थल से रविवार तक संपूर्ण स्थान को साफ कर लेंगे. इस बीच, चमोली के जिला प्रशासन के पास गुप्ता बंधुओं द्वारा जमा की गई 3 करोड़ रुपये की सुरक्षा राशि की वापसी का मुद्दा उत्तराखंड उच्च न्यायालय द्वारा 8 जुलाई को तय किया जाएगा.  

टिप्पणियां

गुप्ता परिवार की 200 करोड़ रुपये की शादी, छोड़ गए 40 क्विटंल का कचरा, सफाई में छूटे नगर निकाय के पसीने

उच्च न्यायालय के आदेशों के अनुसार, वन विभाग, राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड, चमोली जिला प्रशासन, उत्तराखंड जल संस्थान, राजस्व विभाग और लोक निर्माण विभाग के 13 अधिकारियों के एक समूह ने शादी की निगरानी और वीडियोग्राफी की. शीर्ष अधिकारियों ने कहा कि समारोह में औली के वनस्पतियों और जीवों को कोई नुकसान नहीं पहुंचा है. चूंकि अदालत ने औली में हेलीकॉप्टरों के इस्तेमाल पर रोक लगा दी थी, इसलिए हेलीकॉप्टर जोशीमठ हेलीपैड के पास रविग्राम में उतरे, जहां से मेहमानों को कारों में विवाह स्थल तक लाया गया. अदालत ने मेहमानों की संख्या 150 तय की थी. मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत और योगगुरु बाबा रामदेव उन वीआईपी लोगों में शामिल थे, जिन्होंने नवविवाहित जोड़ों को आशीर्वाद दिया. कैटरीना कैफ सहित बॉलीवुड सितारों की एक समूह ने शादियों में प्रस्तुति दी थी. 



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement